DA Image
27 अक्तूबर, 2020|8:21|IST

अगली स्टोरी

14 हजार लीटर जहरीली ्प्रिरट बरामद, तीन धराए

default image

अररिया पुलिस ने गुप्त सूचना पर मंगलवार की शाम दो ट्रकों में लोड 14 हजार लीटर जहरीली ्प्रिरट का खेप बरामद करने में सफलता हासिल की।

इसमें अररिया थाना क्षेत्र स्थित टाल प्लाजा के पास पकड़ाये एक ट्रक से आठ हजार व नरपतगंज थाना क्षेत्र में पकड़ाये दूसरे ट्रक से छह हजार लीटर ्प्रिरट शामिल हैं। अररिया में ट्रक मालिक को दबोचा गया जबकि नरपतगंज थाना क्षेत्र में ट्रक चालक सहित तीन गिरफ्तार हुए।

इस संबंध में अररिया टाउन थाना में अररिया सदर एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने बुधवार को प्रेसवार्ता में बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर अररिया टाउन थानाध्यक्ष सुनील कुमार एवं सब इंस्पेक्टर जीवेश कुमार के नेतृत्व में टीम गठित की गई। इसमें एक ट्रक अररिया टोल प्लाजा के पास दबोचा गया। वहीं दूसरा ट्रक वहां से भाग निकला।

इसी टीम ने ट्रक का पीछा करते हुए नरपतगंज थाना के समीप ट्रक को दबोच कर नरपतगंज थाना के सुपुर्द कर दिया। एसडीपीओ ने बताया कि पश्चिम बंगाल के विधान नगर से दोनों ट्रक लोड किया गया था। जहरीली ्प्रिरट का खेप असम से निकला था। दोनों ट्रकों को मुजफ्फरपुर में डिलीवरी देनी थी। प्रति ट्रक 70 हजार के हिसाब से भाड़ा दिया गया था। कहा कि चालक को भी पता था कि इस गाड़ी के अंदर क्या है। क्योंकि इतना भाड़ा नहीं बनता है। अररिया टोल प्लाजा के पास ट्रक के मालिक सहदेव यादव को भी गिरफ्तार किया गया। वहीं नरपतगंज में भी तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

उनके पास से 80 हजार नकदी समेत सात मोबाइल भी जब्त किए गए हैं। उन्होंने बताया कि जहरीली स्प्रीट रॉ मैटेरियल है। इसका उपयोग कच्चा शराब बनाने में किया जाता है। उन्होंने बताया कि सभी कड़ी को छोड़कर सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। इस सिंडिकेट का सरगना पश्चिम बंगाल से लेकर बिहार समेत यूपी तक जुड़ा हुआ है। पकड़े गए लोगों से गहन पूछताछ की गई है। उन्होंने बताया कि आईजी के निर्देश पर टीम गठित कर पश्चिम बंगाल भेजा गया है। इतनी बड़ी मात्रा में ्प्रिरट पकड़े जाने से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। कई सफेदपोश भी इस गिरोह से तार जुड़े होने की आशंका जताई जा रही है। पुलिस इस पकड़े गए स्प्रीट की खेप को बड़ी सफलता मान रही है। पुलिस का मानना है कि पकड़े गए लोगों से पूछताछ के बाद कई शराब माफियाओं का राज खुलने की आशंका जताई। आखिर सवाल उठता है कि बिहार में चुनाव का बिगुल बज चुका है। इतने बड़ी मात्रा में पश्चिम बंगाल से जहरीली स्प्रीट का खेप बिहार भेजा जाना बिहार चुनाव में शराब के उपयोग की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:14 thousand liters of poisonous substance recovered three arrested