DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार आराबीपीएससी में टॉप टेन में रहे आदित्य से सीख लें युवा

बीपीएससी में टॉप टेन में रहे आदित्य से सीख लें युवा

हिन्दुस्तान टीम,आराNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 08:40 PM
बीपीएससी में टॉप टेन में रहे आदित्य से सीख लें युवा

युवाओं को टिप्स

-सफलता के लिए माता-पिता के साथ साथ अच्छे दोस्तों का साथ भी जरूरी

-बिना रणनीति के पढ़ाई अनगाइडेड मिसाइल, जिससे लक्ष्य पाना है मुश्किल

-परीक्षा के पिछले प्रश्नों का पैटर्न जरूर देखें, इससे स्ट्रेटजी तय करने में मदद

कोईलवर। एक संवाददाता

बिहार लोक सेवा आयोग की परीक्षा में आठवीं रैंक लाकर एसडीएम पद पर चयनित आदित्य कुमार का चांदी उच्च विद्यालय में अभिनंदन किया गया। हरवंश उच्च विद्यालय चांदी के पूर्ववर्ती छात्रों व शिक्षकों की ओर से आयोजित अभिनन्दन समारोह में चांदी विद्यालय के पूर्ववर्ती छात्र व रिटायर आईएएस अरविंद कुमार सिंह ने युवाओं को सीख लेने की सलाह दी। आदित्य की कामयाबी पर प्रसन्नता जाहिर करते कहा कि चांदी उच्च विद्यालय से अब तक कई छात्र-छात्राएं देश व विदेशों में परचम लहरा रहे हैं। वर्ष 2008 बैच के चांदी उच्च विद्यालय में आदित्य के साथ पढ़ाई करने वाले दर्जनों छात्रों ने अभिनंदन कार्यक्रम में अपनी खुशी जाहिर की व शिक्षकों का स्वागत किया। चांदी निवासी व विद्यालय के पूर्ववर्ती छात्र के तौर पर एसडीएम रैंक प्राप्त करने वाले आदित्य ने सभी शिक्षकों को शॉल देकर खुद सम्मानित किया। इस मौके पर आदित्य ने सभी साथियों का धन्यवाद करते हुए इलाके के युवा साथियों को आगामी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी के बारे में उपस्थित छात्रों को कई टिप्स दिए। उन्होंने बताया कि सफलता के लिए माता-पिता के साथ साथ अच्छे दोस्तों का साथ बहुत ही जरूरी है। उसने कहा कि बगैर कोचिंग किए स्वाध्याय से किसी भी परीक्षा में बेहतर रिजल्ट लाया जा सकता है। किसी भी परीक्षा में सफलता के लिए कठिन और नियमित परिश्रम को जरूरी बताते आदित्य ने कहा कि जरूरी नहीं कि परीक्षार्थी 18 घंटे पढ़े, बल्कि जरूरी यह है कि महज चार घंटे की पढ़ाई में उसने जो सीखा, उसे याद रखना और दुहराना जरूरी है। साथ ही कहा कि बिना रणनीति के पढ़ाई अनगाइडेड मिसाइल की तरह है, जिससे लक्ष्य पाना मुश्किल है। किसी भी मुकाम को हासिल करने के लिए परीक्षा के पिछले प्रश्नों का पैटर्न जरूर देखने की सलाह देते कहा कि इससे तैयारी में स्ट्रेटजी का पता चल पाता है। उच्च पद पर नौकरी में रहते हुए भी दो-दो घंटे और छुट्टियों के दिनों में खाली समय का सदुपयोग करने को सफलता का कारण बताते कहा कि इस बार सिविल सेवा की पीटी में रिजल्ट आ गया है, जिसकी मुख्य परीक्षा की तैयारी चल रही है। मौके पर सेवानिवृत्त व नियमित शिक्षकों की उपस्थिति रही। कार्यक्रम में पिता प्रकाश चंद्र व मां रागिनी के साथ साथ प्राचार्य साकेत कुमार, पूर्व प्रधानाचार्य अशोक नन्दन तिवारी, जनार्दन राम, कामता प्रसाद सिंह, रामेश्वर प्रसाद,मो फैजुल्लाह, अजय कुमार, मनोज कुमार, दिनेश पाण्डेय, आलोक रंजन,श्याम लाल प्रसाद के साथ साथ 2008 बैच के छात्र ऋतुराज, राशिद, ओमप्रकाश, राजीव, मनीष, राजू, विकास, पवन, सन्नी, बबलू, अमित, कुलदीप, विजय, ऋषि, अकबर समेत दर्जनों छात्र-छात्राओं की उपस्थिति रही।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें