Supplementary charge sheet on MLA now immovable property will be confiscated - विधायक पर पूरक चार्जशीट, अब जब्त होगी अचल संपत्ति DA Image
20 फरवरी, 2020|2:52|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधायक पर पूरक चार्जशीट, अब जब्त होगी अचल संपत्ति

default image

भोजपुर व पटना सहित सूबे के चर्चित सेक्स (रेप) कांड में संदेश के विधायक अरुण यादव के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी गयी है। केस के आईओ ने विधायक को फरार दिखाते हुए एडीजे प्रथम सह पॉक्सो कोर्ट के न्यायाधीश आरके सिंह के कोर्ट में पूरक आरोप पत्र दाखिल कर दिया। पॉक्सो कोर्ट की स्पेशल पीपी सरोज कुमारी ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि चार्जशीट के अनुसार पुलिस ने जांच में विधायक को रेप, गैंग रेप व पॉक्सो सहित दर्जन भर धाराओं में दोषी पाया है। चार्जशीट में विधायक के खिलाफ 370/370(ए)/376/376(ए)(बी)/376(डी)(बी)/376(एफ)/465/467/471, 5(सी) अनैतिक व्यापर (निवारण अधिनिम) की धारा 4/6/8, लैंगिक अपराध से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 व किशोर न्याय संरक्षण की धारा-75 के तहत फरार दिखाया गया है। चार्जशीट दाखिल करने के बाद अब पुलिस विधायक की अचल संपत्ति जब्त करेगी। साथ ही पुलिस लखनऊ के रिंकू, पटना में किशोरी के साथ गंदा काम करने वाले, पटना में दारू के धंधेबाज, उसके मोबाइल का उपयोग करने वाले और एक होटल के मैनेजर के नाम, पता व उम्र का सत्यापन करने के साथ साक्ष्य जुटाने में जुटी है। इस सेक्स कांड में गिरफ्तार इंजीनियर अमरेश सिंह, अनीता देवा, संजीत कुमार उर्फ छोटू व धंधे का सरगना संजय कुमार उर्फ संजय पासवान उर्फ जीजा उर्फ पंडित के खिलाफ पहले ही चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है।

कुर्की-जब्ती के चार माह बाद विधायक पर दाखिल किया जा सका आरोप पत्र

नाबालिस लड़की से सेक्स (रेप) कांड में नाम आने व वारंट जारी होने के बावजूद विधायक को गिरफ्तार करने में विफल रही पुलिस ने आखिरकार चार्जशीट दाखिल कर दी। इसमें पुलिस को चार माह का समय लग गया। इसके लिए केस के आईओ को कई बार कोर्ट की नाराजगी झेलनी पड़ी और फटकार सुननी पड़ी। बता दें कि 18 जुलाई को आरा की एक किशोरी से पटना में देह व्यापार का जबरन धंधा कराने का मामला सामने आया था। उस मामले में किशोरी को भगा ले जाने व धंधे में धकलने वाली अनीता देवी व उसके सहयोगी संजीत कुमार के खिलाफ आरा टाउन थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी। पुलिस ने तत्काल दोनों को गिरफ्तार भी कर लिया। दोनों आरोपित व किशोरी के बयान से इस धंधे में संजय पासवान, मनरेगा इंजीनियर अमरेश कुमार सिंह और एक विधायक का नाम भी आया। इंजीनियर व विधायक पर किशोरी को आवास पर बुलाकर गलत काम करने का आरोप लगा। कुछ दिन बाद पटना की महिला विकास मंच की पहल पर किशोरी का कोर्ट में दुबारा बयान दर्ज कराया गया। उसमें किशोरी ने संदेश विधायक अरुण यादव पर अपने सरकारी आवास में ले जाकर गंदा काम करने का आरोप लगा दिया। उस आधार पर विधायक को अप्राथमिकी आरोपित बना दिया गया। इसके बाद से ही विधायक भूमिगत हो गये।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Supplementary charge sheet on MLA now immovable property will be confiscated