ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार आरा राष्ट्र को एकता के सूत्र में पिरोने में भूमिका रही सरदार पटेल की

राष्ट्र को एकता के सूत्र में पिरोने में भूमिका रही सरदार पटेल की

शहर समेत जिले भर में देश के लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की 145वीं जयंती मनायी गई। मौके पर वक्ताओं ने उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश...

 राष्ट्र को एकता के सूत्र में पिरोने में भूमिका रही सरदार पटेल की
हिन्दुस्तान टीम,आराSun, 01 Nov 2020 12:10 PM
ऐप पर पढ़ें

शहर समेत जिले भर में देश के लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की 145वीं जयंती मनायी गई। मौके पर वक्ताओं ने उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला। कहा कि हिन्दुस्तान को आजादी मिलने के बाद पटेल की पूरे राष्ट्र को एकता के सूत्र में पिरोने में महत्वपूर्ण भूमिका रही। यही कारण है कि उनकी जयंती देश में राष्ट्रीय एकता दिवस के तौर पर मनायी जाती है। शहर के स्थानीय अनाईठ के धोबीघटवा में जयंती पर उनके प्रतिमा स्थल पर जदयू प्रदेश अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ राजेंद्र प्रसाद सिंह चंद्रवंशी के नेतृत्व में माल्यार्पण कार्यक्रम हुआ। मौके पर अजय कुमार, सत्येंद्र प्रसाद सिंह, संदीप कुमार, रामप्रवेश सिंह, अतुल पटेल, प्रो गिरिराज चौधरी, नरेंद्र पटेल, रमाकांत पटेल, मनजी चौधरी, वीरेंद्र चौधरी सहित अन्य थे। वहीं अनाईठ पटेल चौक स्थित पटेल की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण कार्यक्रम पटेल सेवा संघ द्वारा आयोजित किया गया। मौके पर शिवाधार चौधरी, सचिव सियाराम सिंह, कोषाध्यक्ष विनोद चौधरी, जिला संयोजक इंजीनियर अखिलेश कुमार सिंह, संयुक्त सचिव अशोक कुमार चौधरी, गिरजा प्रसाद चौधरी, युवा नेता कुमुद पटेल, रिंकू चौधरी, बालमुकुंद चौधरी, इंजीनियर राम प्रयाग सिंह, नरेंद्र कुमार सिंह, सुरेश सिंह उपस्थित थे।

नेहरू युवा केंद्र ने एकता व अखंडता की दिलाई शपथ

नेहरू युवा केंद्र के तत्वाधान में जयंती पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि डॉ दिनेश प्रसाद सिन्हा ने कहा कि जो राष्ट्र अपने महापुरुषों को भूल जाता है, वह पुनः गुलामी की ओर बढ़ने लगता है। पत्रकार डॉ पीके सुधांशु ने कहा कि पटेल ने भारत के भिन्न-भिन्न रियासतो को जोड़कर भारत को एकजुट बनाया है। वहीं सामाजिक कार्यकर्ता केएम ठाकुर ने कहा कि भारत की संप्रभुता एकता और अखंडता को जिस तरह सरदार पटेल ने बनाए रखा, उस तरह हम युवाओं की यह जिम्मेवारी है कि उनकी जीवनी को अपने जीवन में उतारने का प्रयास करें। वहीं सामाजिक कार्यकर्ता मुकेश केशरी ने कहा कि सरदार पटेल एक अमर व्यक्ति का नाम है, जो कभी मिट नहीं सकता। सामाजिक कार्यकर्ता आदित्य कुमार ने बताया कि भारत एकता और अखंडता तो बनाये रखना ही पटेल जी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। संचालन भुवन पांडेय ने किया और अध्यक्षता कुमार प्रतीक ने की। धन्यवाद ज्ञापन राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक कुमार मंगलम ने किया। राष्ट्रीय एकता दिवस पर एकता की शपथ सौम्या सिंह ने दिलायी। मौके पर ऋतुराज चौधरी, पवन सत्यार्थी, रोहित कुमार ,आनंद कुमार,अनुप सिंह सहित बहुत लोग मौजूद रहे।