DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  आरा  ›  कर्मियों के समय पर नहीं आने से मरीज बेहाल, ओपीडी कार्य बाधित

आराकर्मियों के समय पर नहीं आने से मरीज बेहाल, ओपीडी कार्य बाधित

हिन्दुस्तान टीम,आराPublished By: Newswrap
Mon, 10 May 2021 10:51 PM
कर्मियों के समय पर नहीं आने से मरीज बेहाल, ओपीडी कार्य बाधित

गड़हनी। एक संवाददाता

10 बजे लेट नहीं, दो बजे के बाद भेंट नहीं की कहावत इन दिनों गड़हनी पीएचसी में चरितार्थ होती नज़र आ रही है। प्रखंड के गड़हनी स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में सोमवार की सुबह 9:15 बजे तक मरीज रजिस्ट्रेशन के इन्तजार में अस्पताल में बैठे रहे।इस दौरान ओपीडी का कार्य कर्मियों के अभाव में बन्द पड़ा रहा। कोई मरीज जांच तो कोई वैक्सीन के लिए इधर-उधर भटकता नाजर आया। कोविड के समय में आम मरीजों को काफी फजीहत का सामना करना पड़ा।

कोरोना जैसी भीषण महामारी में डॉ सतीश कुमार व गार्ड उपस्थित मिले एवं अन्य सभी कर्मी गायब थे। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से पूछे जाने पर बताया कि सभी को समय पर आने को रोज कहा जाता है, लेकिन कर्मी अपनी आदत से बाज नही आ रहे हैं। बता दें कि सरकारी नियमानुसार 8:30 बजे तक ओपीडी शुरू हो जाना है। वहीं स्वास्थ्य कर्मियों को पांच किलोमीटर के अंदर रहना चाहिए। विधायक मनोज मंजिल भी लोगों के स्वास्थ्य की चिंता कर गड़हनी अस्पताल का लगातार तीन बार औचक निरीक्षण कर चुके हैं पर सुधार नहीं है।

संविदा पर कार्यरत एएनएम 12 से रहेंगी आइसोलेट

हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

आरा। जिले में संविदा पर कार्यरत एएनएम 12 मई से सामूहिक आइसोलेट रहेंगी। इस संबंध में बिहार राज्य स्वास्थ्य संविदा कर्मी संघ की जिला इकाई ने डीएम, सिविल सर्जन, जिला स्वास्थ समिति, सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी और अधीक्षक को सूचना दे दी है। संघ के सचिव और अध्यक्ष ने कहा है कि कोविड-19 की भयावहता के बीच कार्य कर रहे हैं। सभी एएनएम कर्मियों के लंबित मांगों को पूरा करने के लिए बार-बार स्मार पत्र दिया गया। इसके बावजूद सरकार की ओर से कोई सकारात्मक पहल नहीं की गई। इस कारण बिहार राज्य स्वास्थ्य संविदा कर्मी संघ की भोजपुर जिला इकाई के सभी एएनएम जिला से लेकर स्वास्थ्य उपकेंद्र स्तर तक 12 मई से अपनी मांगों को ले खुद को सामूहिक आइसोलेट कर लेंगे। इस स्थिति में उत्पन्न किसी भी विषम परिस्थिति की सारी जवाबदेही सरकार व स्वास्थ्य विभाग की होगी।

संबंधित खबरें