DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंकों में हड़ताल से एक हजार करोड़ का व्यवसाय प्रभावित

बैंकों में हड़ताल से एक हजार करोड़ का व्यवसाय प्रभावित

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वान पर बुधवार से दो दिवसीय अखिल भारतीय हड़ताल पर भोजपुर के बैंक कर्मी भी चले गये। पहले दिन भोजपुर में करीब एक हजार करोड़ रुपये का व्यवसाय प्रभावित रहा। इसमें क्लीयरिंग हाउस के चेक सहित बैंकों का व्यवसाय शामिल है। हड़ताल के कारण ग्राहकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। एटीएम से पैसे की निकासी करने के लिए भी ग्राहकों को भटकना पड़ा। हड़ताल के कारण सभी राष्ट्रीयकृत बैंक, मध्य बिहार ग्रामीण बैंक, सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के साथ प्राइवेट बैंकों के शटर भी गिरे रहे। इससे ग्राहकों का कामकाज नहीं हो सका और बैंकिंग सेवा प्रभावित रही। शहर का क्लीयरिंग हाउस और दोनों करेंसी चेस्ट भी पूर्णत: बंद रहा। जिले के बैंककर्मियों ने पीएनबी मंडल कार्यालय के सामने धरना-प्रदर्शन कर केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियों की आलोचना की। मौके पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि हड़ताल का आयोजन इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) द्वारा चार्टर ऑफ डिमांड को समाधान करने में विलंब के विरोध में किया गया है। हड़ताल के दौरान केंद्र सरकार के वेतन समझौते के प्रति नकारात्मक रवैये व आईबीए द्वारा वेतन वृद्धि के मद में मात्र दो फीसदी के प्रस्ताव का विरोध किया गया। नेतृत्व अशोक कुमार सिंह, एनएन ओझा, जीतेन्द्र कौशल, सत्येन्द्र पांडेय, सुरेन्द्र कुमार पांडेय, आनंद कुमार सिंह, चंदन कुमार, लियाकत हुसैन, विजय शंकर पाठक, दिलीप कुमार राय, यशवंत कुमार और राजकिशोर पांडेय ने किया। हड़ताल को सफल बनाने में दिलीप कुमार राय, दयाशंकर उपाध्याय, संतोष कुमार, रविन्द्र कुमार गुप्ता, अजीत कुमार पांडेय, रोहित कुमार, छोटू कुमार, मोहित कुमार, प्रदीप कुमार, रमेश कुमार त्रिपाठी, सुधीर कुमार केशरी सहित ने भूमिका निभायी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:one thousmnd crore bussinesss effected from bank strike