DA Image
30 सितम्बर, 2020|12:57|IST

अगली स्टोरी

भोजपुर के केशवपुर पुल से जुड़ी हैं प्रणव दा की यादें

default image

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज हमारे बीच नहीं हैं,लेकिन भोजपुर के केशवपुर पुल से उनकी यादें जुडी हुई हैं। आज से लगभग 26 साल पहले 1994 में प्रणब दा जब आरा आये थे, उस समय योजना आयोग के उपाध्यक्ष हुआ करते थे। उस वक्त कोई नहीं जानता था कि प्रणब दा बाद में भारत के राष्ट्रपति बनेंगे। भोजपुर का बड़हरा प्रखंड प्राकृतिक आपदा की मार हमेशा झेलता रहता था। उन दिनों आरा के सांसद राम लखन सिंह यादव केंद्र में मंत्री थे और राजनीति में उनकी अच्छी पकड़ थी। बड़हरा को आवागमन की बेहतर सुविधा देने के उद्देश्य से केशवपुर में पुल का उद्घाटन होना था। उस समय प्रणब दा योजना आयोग के उपाध्यक्ष थे। रामलखन बाबू क्षेत्र के विकास के उद्देश्य से प्रणब दा को लेकर उद्घाटन समारोह में आये थे। उन दिनों प्रणब दा ने भरोसा दिलाया था कि विकास को गति ढ़ी जाएगी। सचमुच प्रणब दा ने रामलखन बाबू के साथ मिलकर विकास को गति देने में अपनी भूमिका अदा की थी।

आरा में आते-आते रह गये थे प्रणव दा

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी आरा निवासी व पूर्व उप प्रधानमंत्री स्वर्गीय जगजीवन राम और उनकी पत्नी स्वर्गीय इन्द्राणी देवी की प्रतिमा का अनावरण करने 15 सितंबर 2015 को आरा आने वाले थे। अंतिम समय में कार्यक्रम रद्द होने के कारण वे आरा आते-आते रह गये। बाबू जगजीवन राम नेशनल फाउंडेशन के तत्वावधान में राष्ट्रपति चंदवा मोड़ पर स्थित प्रतिमा का अनावरण होना था। कार्यक्रम में सूबे के राज्यपाल और मुख्यमंत्री को भी शामिल होना था। जिला प्रशासन ने सभी तैयारी पूरी कर ली थी। मूर्ति के अनावरण करने के बाद रमना मैदान में एक समारोह भी होना था। इसके पूर्व भी एक बार कार्यक्रम निर्धारित किया गया था,लेकिन अपरिहार्य कारणों से स्थगित हो गया था। इस तरह प्रणव दा का दो बार कार्यक्रम बना लेकिन वे आरा नहीं आ सके। जिलेवासियों को इसका मलाल रहेगा। कार्यक्रम स्थगित होने के बाद डीके कारमेल रेसिडेंसियल हाई स्कूल के विद्यार्थियों ने पूर्व उप प्रधानमंत्री जगजीवन राम और उनकी पत्नी इंद्राणी देवी के चंदवा मोड़ स्थित आदमकद प्रतिमा का अनावरण किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Memories of Pranav da are connected to Keshavpur bridge in Bhojpur