ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार आराबासमती चावल के पैदावार पर डीएन पंडित कांफ्रेंस में रखेंगे बात

बासमती चावल के पैदावार पर डीएन पंडित कांफ्रेंस में रखेंगे बात

स कांफ्रेंस में प्रो पंडित को मुख्य वक्ता के रूप में बुलाया गया है। इसमें वे भारत में बासमती चावल के पैदावार और उस...

बासमती चावल के पैदावार पर डीएन पंडित कांफ्रेंस में रखेंगे बात
हिन्दुस्तान टीम,आराMon, 26 Feb 2024 08:30 PM
ऐप पर पढ़ें

आरा।निज प्रतिनिधि
जूलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया की ओर से शंकर राव पाटिल महाविद्यालय भूम ओस्मानाबाद महाराष्ट्र में आयोजित राष्ट्रीय स्तर के कांफ्रेंस में वीर कुंवर सिंह विवि के पीजी जंतु विज्ञान विभाग के प्रोफेसर डॉ डीएन पंडित भाग लेंगे। आगामी एक और दो मार्च को आयोजित इस कांफ्रेंस में प्रो पंडित को मुख्य वक्ता के रूप में बुलाया गया है। इसमें वे भारत में बासमती चावल के पैदावार और उस पर होने वाले केमिकल के छिड़काव पर अपनी बातें रखेंगे। प्रो पंडित ने बताया कि भारत में धान का का पैदावार बहुत होता है। धान के पैदावार मामले में भारत चीन के बाद दूसरे स्थान पर है। बताया कि भारत में बासमती चावल की मांग बहुत है। इस उन्नत किस्म के धान के चावल को विदेशों में भी भेजा जाता है। वहीं धान के पैदावार को बचाने के लिए किसान केमिकल का भी छिड़काव करते है। बासमती चावल के धान में फफूंदी लगता है। इससे बचाव के लिए ट्राई साइकला जोन केमिकल का छिडकाव किया जाता है। हालांकि जानकारी के अभाव में किसान इसका अधिक मात्रा में छिडकाव करते है। इससे फसल तो बचती है लेकिन इसका स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इस कारण विदेशों में अब यह चावल कम जा रहा है। केमिकल उपयोग होने से विदेश के लोग इसका उपयोग करने से बचते है। बताया कि छिडकाव के लिए एक मात्रा तय की गयी है। इन सभी बातों को कांफ्रेंस में प्रस्तुत किया जायेगा। बताया कि शाहाबाद जैसे कृषि क्षेत्र में इन बातों पर किसानों को अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें