DA Image
24 नवंबर, 2020|1:18|IST

अगली स्टोरी

अंतर वेतन भुगतान मामले में डीईओ से शोकॉज

default image

शिक्षा विभाग के अपर सचिव के आदेश की अवहेलना कर अंतर वेतन भुगतान करना भोजपुर डीईओ को महंगा पड़ने जा रहा है। अपर सचिव ने अंतर वेतन भुगतान के मामले में डीईओ से शोकॉज किया है। दो दिन में जवाब नहीं देने पर कार्रवाई तय मानी जा रही है। बताया जा रहा है कि विभाग की ओर से स्पष्ट रूप से मना करने के बाद भी शिक्षकों की वेतन राशि भुगतान में गड़बड़ी की गयी है। भोजपुर में यह गड़बड़ी लगभग एक करोड़ पंद्रह हजार रुपये की है। शिक्षा विभाग की ओर से डीईओ को कहा गया था कि प्राइमरी, मिडिल, हाई व प्लस टू स्कूलों के नियोजित व नियमित शिक्षकों को अंतर वेतन का भुगतान तब तक नहीं करना है, जब तक इस मद में राशि नहीं दी जाये। इसके लिए अलग से विभाग की ओर से भुगतान किया जायेगा। इसके बावजूद राशि निकाल ली गयी, जो वित्तीय अनियमितता को स्पष्ट करता है। यह अधिकारी की कर्तव्यहीनता को भी उजागर करता है। शिक्षा विभाग के अपर सचिव ने कहा है कि राशि का विचलन कर अन्य मद में उपयोग की गयी है। स्पष्ट आदेश दिया गया था कि वेतन का अंतर भुगतान तभी किया जायेगा, जब उस मद में राशि भेज दी जायेगी। आदेश की अवहेलना की गयी है। इसे वित्तीय अनियमितता मानी जा रही है। डीईओ से पूछा गया है कि क्यों नहीं, उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी जाये।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:DEO from the DEO in the case of Inter Pay