DA Image
22 सितम्बर, 2020|9:27|IST

अगली स्टोरी

सड़क हादसे में इकलौते पुत्र की मौत, परिजनों पर टूटा दु:खों का पहाड़

default image

पीरो थाना क्षेत्र के सारोपुर गांव निवासी अपने माता-पिता के इकलौते पुत्र अजय चौधरी उर्फ पिंटू की सड़क हादसे में मौत के बाद उनके परिजनों पर दु:खों का पहाड़ टूट पड़ा है। जहां एक ओर वर्षों पहले पिता विश्वनाथ चौधरी की मौत के बाद विधवा मां शांति कुंअर अर्द्धविक्षिप्त जैसी रहती हैं, वहीं दूसरी ओर अजय की मौत से उनकी पत्नी रंजूबाला सदमे में डूब गई हैं। सात साल के मासूम पुत्र अभिनव और चार साल की अबोध पुत्री गोरी को तो पता ही नहीं चल रहा है कि यह क्या हो गया है? इस घटना को ले सारोपुर गांव में रहनेवाले सभी लोग शोक और मातम के माहौल में डूबे हुए हैं। सारोपुर गांव के सभी लोगों ने एक स्वर से प्रशासनिक अधिकारियों से पीड़ित परिवार को मुआवजा दिलाये जाने की मांग की है। बता दें कि रविवार को सारोपुर गांव निवासी अजय चौधरी उर्फ पिन्टू अपने ग्रामीण मित्र संजय चौधरी के साथ ग्रामीण बैंक नगरी के मैनेजर से लोन के सिलसिले में मिलने के लिए बाइक से आरा गये थे। आरा से वापस लौटने के क्रम में रात करीब आठ बजे उदवंतनगर थाना क्षेत्र के पावर ग्रिड के समीप सामने से आ रहे किसी बड़े वाहन द्वारा उनकी बाइक में जोरदार टक्कर मार दी गई। बाइक चला रहे अजय चौधरी उर्फ पिन्टू (39 वर्ष) की मौत हो गई, जबकि साथी संजय चौधरी का पैर टूट गया है और वे गंभीर रूप से जख्मी होकर इलाजरत हैं। सड़क दुर्घटना में पति की मौत के बाद पत्नी रंजूबाला को गहरा सदमा हो गया है और उनका इलाज आरा में कराया जा रहा है। मृतक अजय की बूढ़ी विधवा मां और मासूम बेटा-बेटी की हालत रोते-रोते खराब है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Death of only son in road accident mountain of grief broken on family