DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुहागिनों ने हरितालिका व्रत रख की पूजा-अर्चना

पति की लंबी उम्र की कामना को ले सुहागिनों ने हरितालिका (तीज) व्रत के अवसर पर बुधवार को निर्जला उपवास रखा। उपवास के बाद सुहागिनों ने शाम में भगवान शिव व माता पार्वती की पूजा-अर्चना की गयी। पूजा व कथा सुनने के लिए आरा शहर के विभिन्न मंदिरों में महिलाओं की भीड़ जुटी थी। घरों में भी कथा सुनने की व्यवस्था की गयी थी। कथा सुनने के लिए सुहागिन महिलाएं सोलह शृंगार में मंदिरों में पहुंची थीं। महिलाओं ने कथा सुनने के बाद वस्त्र, शृंगार के सामान, फल व पिरुकिया दान किया। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भाद्रपद मास में हस्त नक्षत्र से युक्त शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को जो सुहागिन महिलाएं दिन भर निर्जला उपवास रखकर विधि विधान के साथ हरितालिका व्रत कथा का श्रवण करती हैं और भगवान शिव व माता पार्वती की पूजा-अर्चना करती हैं, उसे स्त्री का सुहाग सुरक्षित रहता है। चरपोखरी प्रखंड के अलग-अलग गांवों में बुधवार को गौरी और शिव की विधि- विधान से पूजन किया। नदी तट और मंदिरों में व्रत की कथा सुनकर अखंड सौभाग्यवती होने की कामना की। साथ ही ब्राह्माणों को दान भी किया। इस दौरान मंदिरों में महिलाओं की भीड़ देखी गयी। शाहपुर के मंदिरों में भी पूजा-अर्चना और कथा सुनने के लिए महिलाओं की भीड़ जुटी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: celebrate the celebration of Haritlika fast