DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  आरा  ›  कुल्हड़िया में पहुंचा प्रशासन तो 28 मौतों की ही पुष्टि

आराकुल्हड़िया में पहुंचा प्रशासन तो 28 मौतों की ही पुष्टि

हिन्दुस्तान टीम,आराPublished By: Newswrap
Mon, 24 May 2021 11:20 PM
कुल्हड़िया में पहुंचा प्रशासन तो 28 मौतों की ही पुष्टि

कोईलवर। एक संवाददाता

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कोईलवर प्रखंड के कुल्हड़िया गांव में बड़ी संख्या में लोगों की मौतों की सत्यता जांचने प्रशासन की टीम सोमवार को पहुंची। बीडीओ वीर बहादुर पाठक, सीओ अनुज कुमार सहित प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी नवीन कुमार कुल्हड़िया गांव पहुंचे तो पता चला कि पिछले कोरोना से महज चार लोगों की मौत हुई है और पिछले दो माह में गांव में कुल 28 लोगों की मौत हुई है। अफसरों ने अलग-अलग लोगों से बात की तो कई लोगों ने बड़ी संख्या में मौत की खबरों को अफवाह बताया। कुछ स्थानीय लोगों ने तो यहां तक कहा कि किसी सोची-समझी साजिश के तहत गांव को पूरी तरह बदनाम करने की नीयत से इस तरह की अफवाह उड़ाई गई है। इसे लेकर उनके परिचित, रिश्तेदार व गांव से बाहर रह रहे लोग भी मोबाइल पर इस तरह की जानकारी ले रहे हैं। अधिकारियों के दल ने पूरे गांव में घूम-घूम कर मामले की सत्यता की जांच की। बीडीओ व सीओ खुद गांव के कई युवा व बुजुर्गों से बातचीत कर जानकारी ली। हालांकि डीएम के निर्देश पर मौके पर ही हर मृतक की जानकारी जुटाने हेतु टीम गठित कर दी। टीम में आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, आशा कार्यकर्ता के साथ साथ एएनएम को लगाया गया । देर शाम तक टीम ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी।

कोरोना से पूरे गांव में जनवरी से अब तक चार की मौत

बीडीओ के नेतृत्व में सरकारी कर्मियों व कार्यकर्ताओं की ओर से घर-घर किये गये सर्वे में जनवरी से लेकर 24 मई तक के काल में कोरोना से महज चार लोगों की मौत की जानकारी मिली। वहीं कोरोना काल में एक अप्रैल से आज तक कुल 28 लोगों की मौत की जानकारी दी गई है। बीडीओ ने बताया कि 28 मृतकों में से भी ज्यादातर बुजुर्ग शामिल हैं, जिनकी सामान्य मौत हुई है। उन्होंने कहा कि 28 मौतों में से भी कुछ लोगों की मौत बाहर हुई और गांव में दाह संस्कार हेतु शव लाए गए और अपने परिवार के बीच उनका अंतिम संस्कार किया गया। उन्होंने बताया कि अगर साल की शुरुआत से भी जोड़ें तो जनवरी से अब तक कुल 42 लोगों की मौतें हुई है। उन्होंने कहा कि इस बाबत डीएम को रिपोर्ट सौंप दी गई है। बीडीओ ने बताया कि देश में मृत्यु दर का आकलन एक हज़ार में सात लोगों के मरने का है, जबकि कुल्हड़िया गांव की मृत्यु दर इससे भी कम है।

चिकित्सा पदाधिकारी ने घर-घर कोरोना जांच शुरू कराई

कोईलवर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ नवीन कुमार ने बताया कि पूरे प्रखंड में एक सप्ताह से कोविड टेस्ट निगेटिव आ रहे हैं, जो प्रखंड के लिए सुखद बात है। आज कुल्हड़िया में चिकित्सक की व्यवस्था मौके पर कराई गई है और आसपास के सेंटर की एएनएम की भी कुल्हड़िया में प्रतिनियुक्ति की गई है। उन्होंने बताया कि गांव में घर-घर जाकर कोविड टेस्टिंग की व्यवस्था करा दी गई है ताकि एक सप्ताह में पूरे गांव की अद्यतन जानकारी ली जा सके।

हिन्दुस्तान में बीते माह तक 17 व इस माह तक 25 मौत की छपी थी खबर

आपके अपने प्रिय अखबार हिन्दुस्तान ने कुल्हड़िया में बीते माह 17 और इस माह तक 25 मौतों की खबर छापी थी। हालांकि कोरोना से मौत का जिक्र नहीं था। अलबत्ता कइयों में लक्षण देखे जाने की चर्चा जरूर थी। प्रशासन की जांच में भी मौतों का लगभग यही आंकड़ा रहा। हिन्दुस्तान में तीन मई को छपी खबर का शीर्षक था- कुल्हड़िया गांव में एक माह में 17 लोगों की मौत। फिर को आठ मई छपी खबर का शीर्षक था-दूसरी लहर : 25 लोगों की मौत के बाद भी सबक नहीं। तीसरी खबर 22 मई को छपी, जिसका शीर्षक था-कोरोना का दर्द : मौत के बाद मोक्ष के लिए पितरों को करना पड़ रहा इंतजार। इसमें भी इनसेट में खबर ली गई थी-गांव के 25 लोगों की हो चुकी है मौत।

क्या कहते हैं डीएम

कोरोना काल में कुल्हड़िया में बड़ी संख्या में मौतों की खबर पर प्रशासन की टीम भेजकर जांच कराई गई। पिछले दो माह में कुल्हड़िया गांव में 25-30 लोगों की ही मौत हु़ई है। इनमें भी अप्रैल से कोरोना से अब तक महज चार लोगों की मौत हुई है।

रौशन कुशवाहा, डीएम, भोजपुर

संबंधित खबरें