Hindi Newsऑटो न्यूज़What is color coded sticker how to safe car

ये छोटा सा स्टीकर निकाल देगा गाड़ी की पूरी कुंडली, इसे नहीं लगाया 5 से 10 हजार का तगड़ा जुर्माना

गाड़ियों की चोरी, ट्रैफिक नियमों को तोड़ना या फिर एक्सीडेंट करके मौके से भाग जाना, ऐसे कई उदाहरण है जिन्हें रोकने के लिए सरकार द्वारा कई कदम उठा रही है।

Narendra Jijhontiya लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीFri, 16 Feb 2024 08:46 AM
हमें फॉलो करें

गाड़ियों की चोरी, ट्रैफिक नियमों को तोड़ना या फिर एक्सीडेंट करके मौके से भाग जाना, ऐसे कई उदाहरण है जिन्हें रोकने के लिए सरकार द्वारा कई कदम उठा रही है। यही वजह है कि केंद्र सरकार हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (HSRP) लगवाने की डेडलाइन जारी भी हो चुकी है। इसमें मोटर व्हीकल एक्ट के तहत 1 अप्रैल, 2019 से पहले रजिस्टर्ड हुए सभी टू-व्हीलर्स पर हाई HSRP लगा होना जरूरी है। वहीं, फोर-व्हीलर्स में कलर कोडेड स्टीकर लगा होना अनिवार्य है। गाड़ी की सेफ्टी में कलर कोडेड स्टीकर का भी अहम रोल है। ये छोटा सा स्टीकर गाड़ी की पूरी कुंडली निकाल देता है। ये नहीं होने पर आपके ऊपर 5,000 से 10,000 रुपए का चालान भी हो सकता है।

क्या होता है कलर कोडेड स्टीकर?
नए नियमों के मुताबिक, किसी भी फोर-व्हीलर की विंडशील्ड पर कलर कोडेड स्टीकर लगा होना अनिवार्य है। इस सीक्रेट कोड में गाड़ी से जुड़ी सारी डिटेल्स जैसे- चेसिस और इंजन नंबर, परचेजिंग डेट, गाड़ी का मॉडल, डीलर और रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी आदि होता है। कार में ये दोनों कोड कलर कोटेड स्टीकर पर भी लिखे होते हैं, जिसे विंडशील्ड पर लगाया जाता है। स्टीकर के कलर के जरिए यह पता चलता है कि गाड़ी किस फ्यूल से चलती है। जैसे कि डीजल गाड़ी के लिए ऑरेंज स्टिकर, पेट्रोल/सीएनजी गाड़ी के लिए लाइट ब्लू स्टिकर और इलेक्ट्रिक गाड़ी के लिए ग्रे स्टिकर लगाया जाता है। इससे ये भी पता चलता है कि गाड़ी किस भारत स्टेज वैरिएंट (BSIII, BSIV या BSVI) की है। स्टीकर से गाड़ी की उम्र का भी पता चल जाता है।

कलर कोडेड स्टीकर बनवाने की ऑनलाइन प्रोसेस
1. इसके लिए सरकार द्वारा ऑथराइज्ड रजिस्ट्रेशन पोर्टल Bookmyhsrp.com पर जाएं।
2. यहां रजिस्ट्रेशन प्लेट, कलर स्टीकर, रिप्लेसमेंट या अपना जरूरी ऑप्शन सिलेक्ट करें।
3. अब व्हीकल नंबर, चेसिस नंबर, इंजन नंबर, एड्रेस, कॉन्टैक्ट,फ्यूल सभी जैसी जरूरी डिटेल दें।
4. आपका व्हीकल प्राइवेट यूज के लिए है तो व्हीकल कैटेगरी के तहत 'non-transport' पर क्लिक करें।
5. अब फॉर्म सबमिट करें। आपको रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक यूजर नेम और पासवर्ड मिल जाएगा।
6. पेमेंट करने के लिए यूजर नेम और पासवर्ड का यूज करके लॉगिन करें। पेमेंट के बाद रसीद भी मिल जाएगी।
7. अब जैस आपके व्हीकल की HSRP तैयार हो जाएगी, आपको मैसेज के जरिए इसकी जानकारी मिल जाएगी।

ऐप पर पढ़ें