Hindi Newsऑटो न्यूज़Nitin Gadkari says India can become No 1 EV maker

वैष्णो देवी के पास मिला लिथियम का खजाना! गडकरी बोले अब भारत बनेगा EV मैन्युफैक्चरिंग में नंबर-1

क्रेंदीय मंत्री नितिन गडकरी देश की EV इंटस्ट्रीज को बढ़ावा देने और ईवी की सेल्स बढ़ाने के लिए लगातार नए-नए कदम उठा रहे हैं। जहां सरकार ईवी की सेल्स को बूस्ट करने के लिए तगड़ी सब्सिडी ऑफर कर रही है।

Narendra Jijhontiya लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीFri, 24 March 2023 07:13 PM
हमें फॉलो करें

क्रेंदीय मंत्री नितिन गडकरी देश की इलेक्ट्रिक इंटस्ट्रीज को बढ़ावा देने और ईवी की सेल्स बढ़ाने के लिए लगातार नए-नए कदम उठा रहे हैं। जहां सरकार ईवी की सेल्स को बूस्ट करने के लिए तगड़ी सब्सिडी ऑफर कर रही है। तो दूसरी तरफ, ईवी की कीमतों को कम करने के लिए भी लगातार प्रयास कर रही है। इसी दिशा में अब नितिन गडकरी ने कहा है कि भारत जम्मू-कश्मीर में मिले लिथियम भंडार का यूज करता है तो वह दुनिया में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (EV) मैन्युफैक्चरिंग के मामले में पहले नंबर पर पहुंच जाएगा।

अभी 1200 टन लिथियम होता है इम्पोर्ट
गडकरी ने बोर्ड ऑफ इंडस्ट्रीज कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (CII) के एक प्रोग्राम में इस बात की चर्चा की। उन्होंने कहा कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा देना चाहिए। इलेक्ट्रिक बसें ही देश का भविष्य हैं। हम हर साल 1200 टन लिथियम इम्पोर्ट करते हैं। अब हमें जम्मू-कश्मीर में लिथियम मिला है। अगर इस लिथियम ऑयन का सही से यूज किया जाए तो हम इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने वाला नंबर-1 देश बन जाएंगे। भारत अभी चीन और अमेरिका के बाद नंबर-3 पोजीशन पर है। उसने पिछले साल जापान को पीछे छोड़ है।

59 लाख टन भंडार होने का अनुमान
नितिन गडकरी ने बताया कि अभी देश की व्हीकल इंडस्ट्री 7.5 लाख करोड़ रुपए की है। इसके अलावा देश के कुल GST रेवेन्यू में इस सेक्टर का काफी ज्यादा योगदान है। भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (GSI) ने रियासी जिले में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स और सोलर पैनल के मैन्युफैक्चरिंग के लिहाज से जरूरी खनिज लिथियम का पता लगाया है। इसका अनुमानित भंडार 59 लाख टन बताया जा रहा है।

दुर्लभ संसाधन की कैटेगरी में शामिल लिथियम
लिथियम मिलने पर जम्मू-कश्मीर के खनन सचिव अमित शर्मा के बताया यह लिथियम दुर्लभ संसाधन की कैटेगरी में आता है। यह पहले भारत में उपलब्ध नहीं था। हम इसके 100% इम्पोर्ट पर डिपेंड थे। उन्होंने बताया कि GSI के G3 (एडवांस) विश्लेषण के अनुसार, रियासी के सलाल गांव में माता वैष्णो देवी तीर्थ की तलहटी में काफी मात्रा में शानदार क्वॉलिटी वाला लिथियम मौजूद है।

ऐप पर पढ़ें