फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ ऑटोकार, बाइक, स्कूटर चलाने वालों को अब इस वजह से देना होगा ज्यादा प्रीमियम; सरकार ने बदला इंश्योरेंस का नियम

कार, बाइक, स्कूटर चलाने वालों को अब इस वजह से देना होगा ज्यादा प्रीमियम; सरकार ने बदला इंश्योरेंस का नियम

IRDAI ने साधारण बीमा कंपनियों को व्हीकल इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए एक्स्ट्रा बेनिफिट और व्यापक सुरक्षा कवर की एडवांस्ड सुविधाएं पेश करने की अनुमति दे दी है।

कार, बाइक, स्कूटर चलाने वालों को अब इस वजह से देना होगा ज्यादा प्रीमियम; सरकार ने बदला इंश्योरेंस का नियम
Narendra Jijhontiyaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 07 Jul 2022 01:33 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

IRDAI New Rules For Motor Insurance: कार चलाने वालों के लिए गुड न्यूज आई है। भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDAI) ने व्हीकल इंश्योरेंस के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। IRDAI ने साधारण बीमा कंपनियों को व्हीकल इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए एक्स्ट्रा बेनिफिट और व्यापक सुरक्षा कवर की एडवांस्ड सुविधाएं पेश करने की अनुमति दे दी है। इसका मकसद मोटर इंश्योरेंस को ज्यादा किफायती बनाना और मार्केट में इसकी पहुंच बढ़ाना है। बीमा कंपनियों को पे एज यू ड्राइव (Pay as You Drive), पे हाउ यू ड्राइव (Pay How You Drive) और फ्लोटर (Floater) पॉलिसीज लॉन्च करने की अनुमति दी गई है। ये टेलीमैटिक्स बेस्ड व्हीकल इंश्योरेंस स्कीम हैं। जिनके लिए प्रीमियम व्हीकल के यूज या उसे चलाने के तरीके पर निर्भर करता है।

टेलीमैटिक्स बेस्ड व्हीकल इंश्योरेंस स्कीम
व्हीकल इंश्योरेंस इंडस्ट्री में टेलीमैटिक्स ‘ड्राइविंग’ से संबंधित आंकड़ों पर नजर रखने, उसके स्टोरेज और ट्रांसफर करने के लिए बहुत काम आता है। ये आकड़े गाड़ी चलाने के व्यवहार को समझने और उचित वाहन बीमा दरों को तय करने में काम आते हैं। IRDAI ने कहा कि व्हीकल इंश्योरेंस कराने को लेकर लोग जागरुक हुए हैं। टेक्नोलॉजी के साथ नई यंग जनरेशन की चुनौतीपूर्ण मांग को पूरा करने की गति काफी तेजी से बढ़ी है। साधारण बीमा क्षेत्र को पॉलिसीधारकों की बदलती जरूरतों के साथ तालमेल बिठाने और उनके अनुकूल होने की जरूरत है।

भूल जाओ Hero Splendor! इस कंपनी ने हूबहू उसके जैसी इलेक्ट्रिक बाइक बनाई; कम कीमत में रेंज 140km

इंश्योरेंस को सुविधाजनक बनाने में मदद मिलेगी
पॉलिसीधारकों के हितों की रक्षा के निरंतर प्रयास और देश में बीमा दायरा बढ़ाने के तहत नियामक ने उद्योग को समय के साथ आगे बढ़ने में मदद को लेकर चीजों को सुगम बनाया है। इरडा ने टेक्नोलॉजी बेस्ड इंश्योरेंस कवर को सुविधाजनक बनाने की दिशा में एक कदम उठाया है। इसके तहत नियामक ने साधारण बीमा कंपनियों को 'मोटर ओन डैमेज' (ओडी) यानी अपने वाहन के नुकसान के कवर के लिए टेक्नोलॉजी बेस्ड धारणा पेश करने की अनुमति दी है। इसमें 'पे एज यू ड्राइव' और 'पे हाऊ यू ड्राइव' शामिल हैं।

क्या है 'पे एज यू ड्राइव'?
'पे एज यू ड्राइव' और 'पे हाऊ यू ड्राइव' व्हीकल इंश्योरेंस मॉडल है। यह पॉलिसीधारकों को अपनी बीमा पॉलिसी को एक सीमा तक अपने हिसाब से तय करने की अनुमति देता है। इससे प्रीमियम को कम करने में मदद मिलती है। 'पे एज यू ड्राइव' एक व्यापक मोटर प्लान है जहां प्रीमियम व्हीकल के उपयोग पर निर्भर करेगा

क्या है 'पे हाऊ यू ड्राइव'?
'पे हाऊ यू ड्राइव' प्रीमियम व्हीकल चलाने के व्यवहार से जुड़ा होगा। सुरक्षित और अच्छे तरीके से गाड़ी चलाने पर मोटर बीमा के लिए प्रीमियम भी कम देना होगा। दूसरी ओर नियमों को तोड़ने या गलत तरीके से वाहन चलाने पर ज्यादा प्रीमियम देना होगा। यानी प्रीमियम की रकम गाड़ी चलाने के तरीके पर तय होगी। इसके लिए गाड़ियों में एक छोटा सा डिवाइस लगेगा।

मारुति का लूट लो ऑफर! Swift से WagonR, Dzire तक, इस महीने कार खरीदने पर 74,000 रुपए की बचेंगे

क्या है फ्लोटर पॉलिसीज?
इसमें एक से ज्यादा कार और टू-व्हीलर होने पर अब एक ही इंश्योरेंस पॉलिसी होगी। अलग-अलग गाड़ी के लिए कई पॉलिसी लेने की जरूरत नहीं है। इरडा के मुताबिक, यह हेल्थ इंश्योरेंस के फ्लोटर पॉलिसी की तरह होगा। यह बीमा कवर एड-ऑन आधार पर दिया जाएगा। इसे पॉलिसी में जोड़ा जाएगा।