Hindi Newsऑटो न्यूज़India car sales smash record and two wheelers see strong rural demand in January 2024

सेट किया नया रिकॉर्ड; जनवरी में 3.93 लाख भारतीय ग्राहकों ने घर लाई नई कार, गांव के लोगों ने धड़ाधड़ खरीदी बाइक

जनवरी 2024 में भारत की कार बिक्री ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। इसके साथ ही दोपहिया वाहनों की मजबूत ग्रामीण मांग देखी गई। FADA के मुताबिक भारत में जनवरी में रिकॉर्ड 3.93 लाख कारें सेल हुई हैं।

Sarveshwar Pathak लाइव हिंदुस्तान, नई दिल्लीTue, 13 Feb 2024 02:35 PM
हमें फॉलो करें

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (Automobile Dealers Associations- FADA) ने मंगलवार को एक प्रेस रिलीज में दावा किया है कि भारत में पैसेंजर व्हीकल की बिक्री ने जनवरी 2024 में एक नया रिकॉर्ड सेट किया है। FADA द्वारा जारी व्हीकल रिटेल डेटा में बताया गया कि पिछले महीने पैसेंजर वाहनों की 393,250 यूनिट बिकीं, जो एक साल पहले इसी महीने में रजिस्टर 347,086 यूनिट से 13.30 प्रतिशत ज्यादा है, जबकि महीने-दर-महीने (MoM) बिक्री में पिछले साल दिसंबर में दर्ज की गई 293,005 यूनिट की तुलना में यह 34.21 प्रतिशत की वृद्धि है।

यह भी पढ़ें- टूटे सारे रिकॉर्ड! ₹6 लाख की इस SUV को ताबड़तोड़ 1 लाख लोगों ने खरीदा, कंपनी ने खुश होकर लॉन्च किया ये नया प्लेटफॉर्म

पैसेंजर व्हीकल सेगमेंट की बिक्री

FADA ने कहा कि इस रिटेल संख्या के साथ भारत में पैसेंजर व्हीकल सेगमेंट ने जनवरी के लिए अब तक की सबसे बड़ी बिक्री हासिल की है। इसके साथ उद्योग ने नवंबर 2023 में बनाए गए पिछले रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है। एसोसिएशन ने आगे दावा किया है कि पैसेंजर वाहनों की रिकॉर्ड बिक्री ने उद्योग की समग्र वृद्धि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिसने 15.03 प्रतिशत खुदरा बिक्री वृद्धि हासिल की।

दोपहिया वाहनों की बिक्री

दोपहिया पैसेंजर व्हीकल सेगमेंट ने एक नया उच्चतम मासिक बिक्री रिकॉर्ड तोड़ दिया। दोपहिया सेगमेंट ने भी जनवरी 2024 में 14.96 प्रतिशत की साल-दर-साल (YoY) वृद्धि दर्ज की है, जो 14,58,849 यूनिट्स थी। यह बेची गई 12,68,990 यूनिट से अधिक थी। इसके अलावा FADA ने बताया कि भारत भर में दोपहिया वाहनों की बिक्री पिछले महीने MoM के आधार पर 0.63 प्रतिशत बढ़ी, जो पिछले साल दिसंबर में दर्ज की गई 14,49,693 यूनिट से ज्यादा है।

एसोसिएशन ने इस बिक्री वृद्धि के लिए दोपहिया वाहनों की मजबूत और स्थिर मांग को जिम्मेदार ठहराया है। इसमें यह भी कहा गया है कि अच्छी फसल उत्पादन, अच्छे मानसून और ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए निरंतर सरकारी समर्थन के कारण लगातार मजबूत ग्रामीण मांग ने इस क्षेत्र को इस तरह की रिटेल वृद्धि दर्ज करने में मदद की है।

मिलती-जुलती गाड़ियां

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें