फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ ऑटोलोग इस कंपनी की कारों से दूर जा रहे, पिछले महीने 0 ग्रोथ रही; इस मॉडल ने सेल्स को संभाला

लोग इस कंपनी की कारों से दूर जा रहे, पिछले महीने 0 ग्रोथ रही; इस मॉडल ने सेल्स को संभाला

हुंडई मोटर इंडिया एक बार फिर सबसे ज्यादा गाड़ी बेचने वाली कंपनियों की लिस्ट में दूसर नंबर पर रही। हालांकि, तीसरे नंबर पर रहने वाला टाटा मोटर्स और हुंडई के बीच महज 1,966 यूनिट का अंतर रहा।

लोग इस कंपनी की कारों से दूर जा रहे, पिछले महीने 0 ग्रोथ रही; इस मॉडल ने सेल्स को संभाला
Narendra Jijhontiyaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 02 Dec 2022 07:44 AM
ऐप पर पढ़ें

हुंडई मोटर इंडिया एक बार फिर सबसे ज्यादा गाड़ी बेचने वाली कंपनियों की लिस्ट में दूसर नंबर पर रही। हालांकि, तीसरे नंबर पर रहने वाला टाटा मोटर्स और हुंडई के बीच महज 1,966 यूनिट का अंतर रहा। हुंडई को ईयरली सेल्स के दौरान महज 29% की ग्रोथ मिली। जबकि उसकी मंथली ग्रोथ महज बराबर रही। इससे ये साफ होता है कि हुंडई की कारों से ज्यादा लोगो कों टाटा मोटर्स की कार पंसद आ रही हैं। माना जा रहा है कि पिछले महीने हुंडई के लिए सबसे ज्यादा बिकने वाली कार क्रेटा रही होगी। जो पिछले कुछ महीने से कंपनी की सेल्स को संभाले हुए है। क्रेटा कॉम्पैक्ट SUV सेगमेंट में कभी नंबर-1 तो कभी नंबर-2 पोजीशन पर पहुंच जाती है। इसका सीधा मुकाबला टाटा नेक्सन से हो रहा है।

हुंडई ने 48,003 गाड़ियां बेचीं
हुंडई मोटर इंडिया ने बताया कि पिछले साल नवंबर में उसने 37,001 यूनिट्स बेची थीं। जो इस साल नवंबर 2022 में बढ़कर 48,003 यूनिट हो गईं। यानी उसे करीब 29.73% की ग्रोथ मिली। कंपनी के सेल्स, मार्केटिंग एंड सर्विस के डायरेक्टर तरुण गर्ग ने कहा कि कंपनी 2022 में रिकॉर्ड डोमेस्टिक सेल्स के लिए तैयार है। हालांकि, सेल्स आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो ये साफ होता है कि टाटा मोटर्स को हुंडई की तुलना में शानदार ग्रोथ मिल रही है।

इस कंपनी की कारों को लोगों ने दोनों हाथों से खरीदा, अपना पुराना रिकॉर्ड तोड़ा; EV सेल्स में 146% की ग्रोथ

हुंडई क्रेटा पर लोगों का भरोसा कायम
कॉम्पैक्ट SUV सेगमेंट में हुंडई क्रेटा आज भी लोगों की पहली पसंद है। अक्टूबर के आंकड़ों की बात की जाए तो इसके पास सबसे ज्यादा 30.34% मार्केट शेयर रहा। ये एकमात्र ऐसी SUV भी है जिससे ईयरली बेसिस पर सबसे ज्यादा ग्रोथ मिली है। सेल्टॉस, टाइगन, कुशाक को सेल्स अक्टूबर 2021 की तुलना में घट गई। पिछले महीने सेल्टॉस की 9,777 यूनिट, ग्रैंड विटारा की 8,052 यूनिट, हाईराइडर की 3,384 यूनिट, टाइगन की 2,355 यूनिट, एस्टर की 1,774 यूनिट, कुशाक की 1,691 यूनिट और किक्स की सिर्फ 242 यूनिट बिकीं। मारुति की एस-क्रॉस और रेनो की डस्टर जीरो सेल्स के साथ इस लिस्ट से बाहर हो गईं।

सैंट्रो और एलेंट्रा की सेल्स जीरो हुई
कंपनी ने अक्टूबर 2022 सेल्स के जो आंकड़े जारी किए थे उसमें सैंट्रो और एलेंट्रा की सेल्स जीरो रही। सैंट्रो की सालभर पहले यानी अक्टूबर 2021 में 2877 यूनिट बिकी थीं। कंपनी ने सैंट्रो को 2018 में 3.9 लाख की शुरुआती कीमत के साथ रिलॉन्च किया था। इसकी की डिमांड कम होने की एक वजह इसकी कीमतों का बढ़ना भी रहा। 4 सालों में इसकी शुरुआती कीमत बढ़कर 5.7 लाख रुपए तक आ गई थी।

7 सीटर इनोवा खरीदने में जल्दबाजी ना करें, आ रहा इसका इलेक्ट्रिक मॉडल; जानिए कब होगी लॉन्च

सैंट्रो का इंजन
सैंट्रो में 1.1-लीटर वाला पेट्रोल इंजन है। यह इंजन 68hp का पावर और 99Nm टॉर्क जेनरेट करता है। वहीं कार का सीएनजी ऑप्शन 58hp का पावर और 84Nm टॉर्क जेनरेट करता है। पेट्रोल इंजन के साथ 5-स्पीड मैन्युअल और AMT गियरबॉक्स के ऑप्शन हैं। वहीं CNG मॉडल में 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स है।

सैंट्रो के फीचर्स
वैरिएंट और फ्यूल टाइप के आधार पर सैंट्रो का माइलेज पेट्रोल में 20.3 किमी/लीटर और CNG में 30.48 किमी/किलोग्राम है। फीचर्स की बात करें तो इसमें एंड्रॉयड ऑटो, एपल कारप्ले और मिररलिंक कनेक्टिविटी सपोर्ट करने वाला 7.0 इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, रियर पार्किंग कैमरा, सेंसर्स, रियर एसी वेंट्स,  सभी वेरिएंट्स में ड्राइवर साइड एयरबैग, ABS के साथ EBD जैसे फीचर्स है। सेंग्मेंट में सैंट्रो का मुकाबला वैगनआर, सेलेरियो जैसी गाड़ियों से था।