Hindi Newsऑटो न्यूज़how long rainx rain repellent on windshield price working process

तेज बारिश में कार ड्राइविंग आसान बनाएगा रेन रिपेलेंट, ये पानी को विंडशील्ड पर फैलने से रोकेगा; ऐसे करें यूज

बारिश के दिनों में कार ड्राइविंग सबसे सेफ माना जाती है। कार की वजह से आपके प्लान कैंसल नहीं होते। हां टाइम को लेकर थोड़ा एडजेस्टमेंट करना पड़ता है। हल्की बारिश में कार से सफर का मजा दोगुना हो जाता है।

Narendra Jijhontiya लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीWed, 5 July 2023 04:38 PM
हमें फॉलो करें

बारिश के दिनों में कार ड्राइविंग सबसे सेफ माना जाती है। कार की वजह से आपके प्लान कैंसल नहीं होते। हां टाइम को लेकर थोड़ा एडजेस्टमेंट करना पड़ता है। हल्की बारिश में कार से सफर का मजा दोगुना हो जाता है। ये चलती-फिरती पिकनिक जैसा होता है। हालांकि, तेज बारिश जब कार की विंडशील्ड पर पड़ती है तब वाइपर भी विजिबिलिटी को बेहतर नहीं कर पाते। ऐसे में हादसा होने की संभावना बढ़ जाती है। बारिश का पानी कार के ग्लास पर टिके नहीं इसके लिए रेन रिपेलेंट बढ़िया ऑप्शन बन सकता है। इसका इस्तेमाल कार की विंडशील्ड पर किया जाता है। इस रिपेलेंट की खास बात है कि ग्लास पर पानी का फ्लो कम कर देता है।

बार-बार करना पड़ता है इस्तेमाल
रेन रिपलेंट को लेकर ऑटो एक्सपर्ट और यूट्यूबर अमित खरे (आस्क कारगुरु) ने कहा, "इनके इस्तेमाल से पानी ग्लास पर नहीं टिकता ये बात सही है, लेकिन इसका इस्तेमाल जल्दी-जल्दी करना पड़ता है। विंडशील्ड ग्लास पर रिपेलेंट की लाइफ 4 से 5 दिन की होती है, क्योंकि वाइपर्स चलने से रिपेलेंट जल्दी हट जाता है।" यदि कार के बैक ग्लास पर वाइपर नहीं है तब उस पर रिपेलेंट की लाइफ ज्यादा होती है। साथ ही, इसका इस्तेमाल कार के साइड मिरर पर भी कर सकते हैं। बारिश के मौसम में रेन रिपेलेंट को हमेशा कार में रखना चाहिए।

रेन रिपेलेंट यूज करने का तरीका
अमित खरे ने कहा, "रेन रिपेलेंट में पॉलीसिलोक्सन और हाइड्रोक्सी-टर्मिनेटेड इन्ग्रेडिएंट्स होते हैं। जो ग्लास के ऊपर सिंथेटिक हाइड्रोफोबिक की लेयर बना देते हैं। ये एंटी वाटर एलिमेंट होते हैं जो पानी को बूंदों में बदल देते हैं। इससे पानी ग्लास पर टिक नहीं पाती और बिजिबिलिटी बढ़ जाती है। हल्की बारिश में तो कार के वाइपर्स चलाने की भी जरूरत नहीं पड़ती। रेन रिपेलेंट एक तरह की पॉलिस होती है, जिसे ग्लास पर बाहर की तरफ लगाया जाता है। इसके इस्तेमाल करने से पहले ग्लास को अच्छी तरह साफ कर लेना चाहिए। ग्लास पर धूल, मिट्टी, पानी या दूसरे तरह की गंदगी नहीं होना चाहिए। इसके बाद किसी कॉटन के कपड़े या फिर फोम शीट के टुकड़े पर रिपेलेंट को लेकर ग्लास पर लगा देना चाहिए।

रेन रिपेलेंट की कीमतें
रेन रिपेलेंट को ऑनलाइन मार्केट के साथ दूसरी ऑफलाइन ऑटो शॉप से भी खरीदा जा सकता है। इनकी कीमत 300 रुपए से शुरू हो जाती है। अच्छी क्वालिटी के रिपेलेंट 500 से 1000 रुपए तक मिल जाते हैं। कोशिश करें की थोड़ा महंगा रेन रिपेलेंट ही विंडशील्ड पर लगाएं। क्योंकि ऐसे रिपेलेंट की क्वालिटी बेहतर होती है। ये कुछ समय तक ज्यादा चलते हैं।

ऐप पर पढ़ें