DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ ऑटोFiat से Harley Davidson तक, Ford से पहले ये बड़ी कंपनियां भी रहीं भारत में 'फेल'

Fiat से Harley Davidson तक, Ford से पहले ये बड़ी कंपनियां भी रहीं भारत में 'फेल'

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीVishal Kumar
Fri, 10 Sep 2021 02:18 PM
Fiat से Harley Davidson तक, Ford से पहले ये बड़ी कंपनियां भी रहीं भारत में 'फेल'

अमेरिका की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी Ford Motor Company ने भारत में अपने मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट बंद करने का फैसला किया है। कंपनी अब सिर्फ अपनी प्रीमियम कारों को कंप्लीट बिल्ड यूनिट (CBU) के तौर पर बेचेगी। फोर्ड ने यह फैसला नुकसान से परेशान होकर लिया है, साथ ही भरोसा दिलाया है कि वर्तमान ग्राहकों को सर्विस, वारंटी और पार्ट्स उपलब्धता जैसी सुविधाएं मिलती रहेगीं। फोर्ड पहली ऑटोमोबाइल कंपनी नहीं है, जिसने भारत को अलविदा कहने का फैसला लिया है। आज हम आपको ऐसी ही 5 बड़ी कंपनियों के बारे में बता रहे हैं, जो दुनिया के पांचवें सबसे बड़ा कार-मार्केट भारत में अपना कारोबार बंद कर चुके हैं। 

1. General Motors
जनरल मोटर्स ने भारत में 1996 में Opel ब्रैंड के साथ एंट्री ली थी। इसके बाद 2003 में Chevrolet कार ब्रैंड को लेकर आई। कई शानदार मॉडल्स होने के बावजूद, शेवरले को भारत में बड़ी सफलता नहीं मिल सकी। कंपनी मारुति सुजुकी, हुंडई, महिंद्रा जैसी लोकप्रिय कार कंपनियों के आगे नहीं टिक सकी। भारत में अपने Chevrolet को बंद करने का फैसला काफी चौंकाने वाला था, क्योंकि कुछ महीनों पहले ही जनरल मोटर्स के सीईओ ने भारत में 1 बिलियन डॉलर के निवेश का ऐलान किया था। 

यह भी पढ़ें: Nissan ने कपिल देव को गिफ्ट की ये शानदार इलेक्ट्रिक कार Leaf, सिंगल चार्ज में चलेगी 360Km

2. Fiat
इटली की पॉप्युलर कार कंपनी Fiat ने लंबे समय से कमजोर बिक्री के चलते पिछले साल भारत में करोबार समेटने का फैसला लिया था। कंपनी ने भारतीय बाजार में Fiat Punto, Linea, Punto EVO जैसे कई शानदार मॉडल्स लॉन्च किए थे। कंपनी को 1990 के दशक की शुरुआत में काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिली थी। हालांकि जैसे-जैसे प्रतिस्पर्धा बढ़ती गई, फिएट का प्रदर्शन खराब होता चला गया। इसकी वजह कारों का डिजाइन, फीचर्स की कमी और कम माइलेज होना था। 

3. UM Motorcycles
यूनाइटेड मोटर्स ऑफ अमेरिका ने लोहिया ऑटो के साथ पार्टनरशिप करके भारत में अपना बिजनेस शुरू किया था। कंपनी ने कई शानदार क्रूजर बाइक्स पेश कीं, जिनमें Renegade Commando, Renegade Sport S और Renegade Classic शामिल हैं। इनका डिजाइन काफी अलग था, हालांकि खराब गुणवत्ता के चलते इनकी आलोचना भी की गई। यूनाइटेड मोटर्स का लक्ष्य रॉयल एनफील्ड को टक्कर देना था। आखिरकार कंपनी ने अक्टूबर 2019 में भारतीय बाजार को छोड़ दिया, जिससे डीलरों के बीच काफी हंगामा मचा गया। वर्तमान में, UM और फेडरेशन ऑफ़ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) के बीच कानूनी विवाद चल रहा है।

यह भी पढ़ें: Maruti Alto से लेकर Swift तक सभी हुईं फेल केवल इन 2 कारों की बढ़ी डिमांड, जानें क्या है वजह

4.  Harley Davidson
प्रीमियम बाइक लवर्स के लिए हार्ले डेविडसन का भारत से एग्जिट होने का फैसला एक बड़ा झटका था। यूएस की प्रीमियम बाइक निर्माता ने सितंबर 2020 में भारतीय कारोबार बंद करने का फैसला लिया था। कंपनी की बाइक्स के दाम काफी महंगे थे, जिसके चलते न के बराबर बिक्री हो रही थी। जिस कारण कंपनी ने यह फैसला लिया था। हार्ले ने बाद में भारत की सबसे बड़ी दोपहिया वाहन कंपनी हीरो मोटोकॉर्प के साथ एक समझौता किया। इसके मुताबिक, हीरो मोटोकॉर्प अब हार्ले-डेविडसन मोटरसाइकिलों की बिक्री और सर्विस करता है। 

5. Premier Automobiles
प्रीमियर ऑटोमोबाइल्स लिमिटेड भारत में सबसे सफल और पॉप्युलर ऑटोमोबाइल कंपनियों में से एक थी। हालांकि कम बिक्री के चलते कारोबार बंद करना पड़ा। कंपनी अपनी Rio और Padmini जैसी कारों के लिए सबसे ज्यादा मशहूर हुई थी। Premier Padmini का लुक Hindustan Ambassador कार जैसा था, जो अभी भी मुंबई में टैक्सियों के रूप में इस्तेमाल हो रही है। कंपनी ने 1940 दशक के आखिरी में अपना कारोबार शुरू किया था। 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें