फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ ऑटोपिछले महीने मिडिल क्लास ने खूब खरीदीं इन 5 कंपनियों की कारें, ये लिस्ट आपका काम करेगी आसान

पिछले महीने मिडिल क्लास ने खूब खरीदीं इन 5 कंपनियों की कारें, ये लिस्ट आपका काम करेगी आसान

पिछले महीना कार कंपनियों के लिए शानदार रहा। फेस्टिविल सीजन शुरू होने से लगभग सभी कंपनियों को ईयरली बेसिस पर ग्रोथ मिली है। इस बीच मारुति का दबदबा हर बार की तरह कायम रहा।

पिछले महीने मिडिल क्लास ने खूब खरीदीं इन 5 कंपनियों की कारें, ये लिस्ट आपका काम करेगी आसान
Narendra Jijhontiyaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 04 Oct 2022 10:17 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पिछले महीना कार कंपनियों के लिए शानदार रहा। फेस्टिविल सीजन शुरू होने से लगभग सभी कंपनियों को ईयरली बेसिस पर ग्रोथ मिली है। वहीं, टॉप-14 कंपनियों की ओवरऑल सेल्स की बात की जाए तो सितंबर 2021 की तुलना में इन्हें लगभग दोगुनी 91.32% की ग्रोथ मिली। हालांकि, इस बीच मारुति का दबदबा हर बार की तरह कायम रहा। मारुति ने सबसे ज्यादा 1,48,380 कार बेचीं। उसे 135.11% की ईयरली ग्रोथ रही। मारुति के बाद दूसरे नंबर पर रहने वाली हुंडई ने 49,700 गाड़ियां बेचीं। यानी दोनों के बीच तीन गुना से ज्यादा का अंतर रहा। वहीं, टाटा महज 2,046 यूनिट के चलते हुंडई से पिछड़कर तीसरे नंबर पर रही। ऐसे में आप इस महीने अपने लिए कोई नई कार खरीदने का प्लान कर रहे हैं, तब ग्राफिक की मदद से देखिए किस कंपनी की कार सबसे ज्यादा बिक रही हैं।

टॉप-5 में शामिल महिंद्रा और किआ
सितंबर में सबसे ज्यादा कार बेचने वाली कंपनियों मारुति, हुंडई और टाटा क्रमशः पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर रहीं। इसके बाद महिंद्रा और किआ का नंबर है। ये दोनों कंपनियों टॉप-5 में अपनी जगह बनाने में कामयाब रही है। मारुति ने 148,380, हुंडई ने 49,700, टाटा ने 47,654, महिंद्रा ने 34,508 और किआ ने 25,857 गाड़ियां बेचीं। इन तीनों कंपनियों के पास कुल मार्केट का 86.23% मार्केट शेयर रहा। इसमें मारुति के पास 41.80%, हुंडई के पास 14%, टाटा के पास 13.43%, महिंद्रा के पास 9.72% और किआ के पास 7.28% मार्केट शेयर रहा।

फुल टैंक पर 7 लोगों को दिल्ली से वैष्णो देवी पहुंचा देगी ये कार, अभी 50 हजार का डिस्काउंट

टॉप-10 में शामिल टोयोटा, होंडा और रेनो
टॉप-5 के बाद अगले टॉप-5 की बात की जाए तो इसमें टोयोटा, होंडा, रेनो, फॉक्सवैगन और एमजी शामिल रहीं। टोयोटा ने 15,378, होंडा ने 8,714, रेनो ने 7,623, फॉक्सवैगन ने 4,103 और MG ने 3,808 गाड़ियां बेचीं। इन सभी कंपनियों को ईयरली बेसिस पर ग्रोथ मिली। टोयोटा के पास 4.33% मार्केट शेयर रहा। स्कोडा, निसान, सिट्रोन और जीप टॉप-10 से बाहर रहीं। इन चारों के पास लगभग 2.60% मार्केट शेयर रहा।