फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ ऑटोरक्षाबंधन से पहले ही आ गई खुशखबरी, होगा ये काम, वाहन चलाने वालों के लिए बड़ी खबर

रक्षाबंधन से पहले ही आ गई खुशखबरी, होगा ये काम, वाहन चलाने वालों के लिए बड़ी खबर

ऑटो इंडस्ट्री को उम्मीद है कि इस त्योहारी सीजन में नई गाड़ियों और प्रोडेक्शन बढ़ने से कारों की बिक्री तेजी से होगी। हालांकि, त्योहारों के बाद कंपनियां बिजनस अच्छा रहने की उम्मीद लगा रही है।

रक्षाबंधन से पहले ही आ गई खुशखबरी, होगा ये काम, वाहन चलाने वालों के लिए बड़ी खबर
Tejeshwarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 07 Aug 2022 03:03 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

ऑटो इंडस्ट्री को उम्मीद है कि इस त्योहारी सीजन में नई गाड़ियों और प्रोडेक्शन बढ़ने से कारों की बिक्री तेजी से होगी। हालांकि, त्योहारों के बाद कंपनियां बिजनस अच्छा रहने की उम्मीद लगा रही है। त्योहारी सीजन में आमतौर पर गाड़ियों, स्कूटर, मोटरसाइकिल की बिक्री में बढ़ोतरी होती है। इस साल त्योहारी सीजन 11 अगस्त को रक्षाबंधन से शुरू होकर 25 अक्टूबर को दिवाली तक चलेगा। फाडा के चेयरमैन विंकेश गुलाटी ने बताया, ''हमें उम्मीद है कि नई पेशकश और बेहतर प्रोडक्शन गतिविधियों के चलते इस साल त्योहारी सीजन पैसेंजर व्हीकल की बिक्री के लिहाज से सबसे अच्छा रहेगा।''

3 लाख से ज्यादा व्हीकल का प्रोडेक्शन

उन्होंने बताया, ''इंडस्ट्री पिछले 4-5 महीनों में एवरेज तीन लाख से अधिक व्हीकल का प्रोडेक्शन कर रही है।'' आने वाले दिनों में कुछ चुनौतियों के बारे में पूछने पर उन्होंने देश के कुछ हिस्सों में अनिश्चित मानसून, इंफ्लेशन के दबाव और चीन-ताइवान युद्ध के आसन्न खतरे का जिक्र किया। फाडा देश भर में 15,000 से अधिक ऑटोमोबाइल डीलरों का प्रतिनिधित्व करता है।

सप्लाई चेन की समस्या में आई कमी

किआ इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट और हेड ऑफ सेल्स और मार्केटिंग हरदीप सिंह बराड़ के मुताबिक ऐसे संकेत हैं कि सप्लाई चेन के मुद्दे अब कम हो रहे हैं और बाजार में तेज बनी हुई है।

त्योहारी सीजन में खूब बिकेगी गाड़ियां

टाटा मोटर्स के चेयरमैन (पैसेंजर व्हीकल और इलेक्ट्रिक व्हीकल) शैलेश चंद्र ने कहा कि कंपनी को त्योहारी सीजन के आखिर तक ग्राहकों की मांग के बारे में कोई चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि कंपनी को उम्मीद है कि दूसरी तिमाही में बेहतर सेमीकंडक्टर उपलब्धता के साथ गाड़ियों की आपूर्ति में सुधार होगा। उन्होंने साथ ही जोड़ा कि ज्यादा इंफ्लेशन और ब्याज दर ऑटो मांग को प्रभावित कर सकती है, हालांकि दूसरी तिमाही में कोई तनाव नहीं है। 

epaper