DA Image
29 अप्रैल, 2021|3:51|IST

अगली स्टोरी

Airspeeder MK3: पेश हुई दुनिया की पहली इलेक्ट्रिक फ्लाइंग रेसिंग कार, जानें क्या है इसमें खास

airspeeder mk3 flying car

Airspeeder MK3: कारों के लिए रेसिंग ट्रैक्स किसी कैनवास की तरह होते हैं, जिस पर कारें रफ़्तार के आंकड़ों से रंग भरती हैं। अब रेसिंग ट्रैक सड़कों तक ही सीमित नहीं है बल्कि ये नई उंचाई छूते हुए आसमान की बुलंदियों तक पहुंच चुकी हैं। आपने अब तक जमीन पर कारों के भी रेसिंग का मुकाबला होते देखा होगा, लेकिन अब आसमान में भी रेसिंग देखने के लिए कमर कस लिजीए। आज दुनिया की पहली इलेक्ट्रिक फ्लाइंग रेसिंग कार Airspeeder MK3 ने दस्तक दे दी है। 


Airspeeder MK3 को कंपनी ने आज पेश किया है, ये एक फुली फंक्शनिंग इलेक्ट्रिक फ्लाइंग रेसिंग कार है। इस कार को जमीन पर खड़े होकर रिमोट से ऑपरेट किया जाएगा। जानकारी के अनुसार ये रेसिंग कार फ्लाइंग रेस में हिस्सा लेने के लिए पूरी तरह से तैयार है। इस कार को तैयार होने में तकरीबन 3 साल का समय लगा है।  


airspeeder

इस Mk3 इलेक्ट्रिक फ्लाइंग रेसिंग कार का निर्माण साउथ ऑस्ट्रेलिया में स्थित Airspeeder और Alauda के टेक्निकल हेडक्वार्टर में किया गया है। बताया जा रहा है कि कंपनी तकरीबन 10 से ज्यादा ऐसे ही रेसिंग कारों का निर्माण कर इसे टीम्स को सौपेगी। इस कार के निर्माण में अलग अलग कंपनियों का सहयोग लिया गया है, जिसमें मैकलेरेन, बैबक एविएशन, बोइंग, जगुआर लैंडरोवर, रोल्स रॉयस जैसे नाम शामिल हैं। 


बता दें कि, आने वाले महीनों में ही Airspeeder Mk3 रेसिंग सीरीज की घोषणा होने वाली है। जिसमें दुनिया पहली बार रिमोट से संचालित होने वाली इन फ्लाइंग कारों को आसमान में रफ्तार से जंग करते हुए देखेगी। बताया जा रहा है कि इनकी स्पीड 120 किलोमीटर प्रतिघंटा से भी ज्यादा होगी। आसमान में होने वाला ये अपनी तरह का पहला इवेंट होगा। 


airspeeder

कैसी है ये फ्लाइंग कार: इस कार में सुरक्षा का खास ख्याल रखा गया है। हालांकि इसमें कोई बैठेगा नहीं, लेकिन रेसिंग के दौरान कोई खास बड़ी दुर्घटना न हो इसलिए इसे LiDAR और Radar सिस्टम से लैस किया गया है। इस कार को कार्बन फाइबर फ्रेम से तैयार किया गया है जो इसे मजबूती के साथ साथ इसके वजन को हल्का भी बनाता है। 


पॉवरट्रेन: दरअसल, नई MK3 फ्लाइंग कार पिछले MK2 कॉन्सेप्ट का अपग्रेटेड मॉडल है। इसमें पावर को तकरीबन 95% और वजन को 50% तक बढ़ाया गया है। इसमें 96 kW की क्षमता का इलेक्ट्रिक मोटर इस्तेमाल किया गया है। इसका कुल वजन तकरीबन 100 किलोग्राम के आस पास है और ये 120 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा में उड़ सकती है। 


Airspeeder एक ग्लोबल स्पोर्ट है, इसका टेक्निकल हेडक्वार्टर एडिलेड, ऑस्ट्रेलिया में है और इसका कमर्शियल ऑपरेशन लंदन से ऑपरेट किया जाता है। इस रेसिंग के दौरान रैपिड पिट स्टॉप्स भी बनाए गए हैं, जिसे ऑपरेट करने के लिए Alauda के इंजीनियरों ने एक इनोवेटिव स्लाइड एंड लॉक सिस्टम विकसित किया है। इसकी मदद से ग्राउंड पर आसानी से बैटरी को निकाला और रिप्लेस किया जा सकेगा। ये सबकुछ बिल्कुल जमीन पर होने वाले कार रेसिंग जैसा ही अहसास देगा। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Airspeeder MK3 World first electric flying racing car is unveiled and ready to race