DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क दुर्घटनाओं को कम करेगा ये खास एयरबैग हेलमेट

घाटक इंजरी से करेगा सुरक्षा
घाटक इंजरी से करेगा सुरक्षा

दो-पहिया वाहन चलाते वक्त हेलमेट पहनना कितना जरूरी है, यह किसी से छिपा नहीं है। स्कूटर, बाइक आदि चलाते वक्त हेलमेट का इस्तेमाल मुश्किल घड़ी में कई बार लोगों को जीवन दान देता है। इसलिए, सरकारी स्तर पर भी ड्राइविंग के दौरान हेलमेट पहनने को बढ़ावा देने के लिए काफी प्रयास किए जाते हैं। बावजूद इसके कुछ लोग इससे बचते हुए दिखाई देते हैं। ऐसे लोगों के लिए एक खास एयरबैग हैलमेट काफी सहूलियत की चीज होगी। हालांकि, फिलहाल इसे साइकिल चलाने वालों के लिए ही बनाया गया है।

यह एयरबैगनुमा यह खास हेलमेट एक स्वीडिश होवडिंग डिवाइस है। दुर्घटना होने पर यह यह डिवाइस किसी तकिया की तरह फूलकर आपके गले और सिर को पूरी तरह ढक लेता है। खास बात यह है कि हवा की अधिकतम मात्रा न होने पर भी यह एयरबैग आपकी सुरक्षा कर सकता है। सामान्य बाइक हेलमेट के मुकाबले यह एयरबैग हेलमेट कहीं मोटा और मुलायम है। इतना ही नहीं, इस बाइक हेलमेट एयरबैग में किसी दुर्घटना की आशंका को बहुत बेहतर तरीके से पहचानने की क्षमता है।

गले में पहना जाता है डिवाइस
गले में पहना जाता है डिवाइस

दरअसल, यह हेलमेट एक एयरबैग है, जो आपकी सिर की सुरक्षा के लिए है। लेकिन, इसे आपको साइकिल चलाते वक्त सामान्य हेलमेट की तरह घर से पहनकर नहीं चलना। इसे कॉलर की तरह सिर्फ गले में डालकर चलना है। एक्सीडेंट या किसी मुश्किल की घड़ी में यह खुद-ब-खुद आपके सिर को ढक लेता है। जी हां, दरअसल, खास तरह का यह एयरबैग तभी खुलता है, जब किसी तरह की दुर्घटना की आशंका होती है। यह हेलमेट साइकिल सेफ्टी को देखकर डिजाइन किया गया है। देखने में यह हेलमेट कॉलर की तरह है, जिसे आप गले में पहनकर चल सकते हैं। मुसीबत की घड़ी में यही कॉलर फैलकर बाकायदा फूलकर एक हेलमेट बन जाता है और आपके सिर को ढक लेता है। 

एक सेकंड में 200 बार रिकॉर्ड करता है मूवमेंट
इस हेलमेट जैसे एयरबैग की खासियत यह है कि यह आपकी हर मूवमेंट को प्रति सेकेंड में 200 बार रिकॉर्ड करता है। यानि आप कब मुसीबत की घड़ी में पड़ सकते हैं, यह एयरबैग आपसे पहले भांप लेता है और फटाफट हेलमेट में तब्दील होकर आपकी सुरक्षा करता है। एयरबैग के सेंसर एल्गोरिदम का इस्तेमाल करके होने वाली दुर्घटना की पहचान करते हैं। कैरी करने में यह एयरबैग इतना आसान है कि रोजाना की राइडिंग में इसे आसानी से गले में डालकर चल सकते हैं। बिल्कुल वैसे, जैसे आप बाइक या स्कूटर पर जाते वक्त हेलमेट पहनते हैं। सबसे खास बात है कि यह आम हेलमेट की तुलना में मुलायम और गद्देदार है, ऐसे में यह भारी भी नहीं है। यानी सुरक्षा यह आम हेलमेट की तरह की करता है, लेकिन उससे कहीं ज्यादा सुविधाजनक है।

दुर्घटनाएं कम करने में मददगार
दुर्घटनाएं कम करने में मददगार

साल 2009 की एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका में 500,000 लोग साइकिल चलाते वक्त दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण इमरजेंसी में भर्ती कराए जाते हैं। इनमें से करीब 85,000 लोगों की सिर की सर्जरी से गुजरना पड़ता है। यानी साइकिल चलाते वक्त भी सुरक्षा की व्यवस्था जरूरी है। ऐसे में यह एयरबैग हेलमेट दुर्घटना के इन आंकड़ों को कम करने में मददगार साबित हो सकता है। इस तरह की दुर्घटना को कम करने के लिए वैसे साइकिल के पैडल के पास एयरबैग लगाने की बात भी चल रही है और इस पर रिसर्चर काम भी कर रहे हैं।

लेकिन, बात जब साइकिल की आती है, तो फिलहाल लोग प्लास्टिक कवर या पॉलिस्टर फोन के हेलमेट ही इस्तेमाल करते हैं। वजन में हल्का होने के कारण लोग इन्हें प्राथमिकता देते हैं, लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से देखा जाए, तो यह बहुत अधिक प्रभावी नहीं है। ऐसे में इन्हें पहनने के बाद भी एक्सीडेंट होने पर आपको सिर की चोट लगने की आशंका रहती ही है। लेकिन, इस मामले में यह एयरबैग हेलमेट काफी असरकारक है। यह काफी मोटा और मुलायम है। आने वाले वक्त में उम्मीद कर सकते हैं कि बाइक और स्कूटर के लिए भी ऐसा एयरबैग हेलमेट आ सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:airbag helmet will protect your head