Hindi Newsऑटो न्यूज़delhi traffic police issued 1 lakh pollution control certificate challan

ट्रैफिक पुलिस चेकिंग में लोगों के पास नहीं निकल रहा ये डॉक्युमेंट, 4 महीने में 1 लाख चालान कट चुके; जुर्माना 10000 रुपए

  • दिल्ली ट्रैफिक पुलिस यातायात नियमों को लेकर हमेशा ही सजग रहती है। साथ ही, वो नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी करती है। इन दिनों दिल्ली में पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल (PUC) की जमकर चेकिंग चल रही है।

Narendra Jijhontiya लाइव हिन्दुस्तानTue, 14 May 2024 05:13 PM
हमें फॉलो करें

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस यातायात नियमों को लेकर हमेशा ही सजग रहती है। साथ ही, वो नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी करती है। इन दिनों दिल्ली में पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल (PUC) की जमकर चेकिंग चल रही है। महज 4 महीने के अंदर पुलिस द्वारा 1 लाख से भी ज्यादा लोगों के चालान किए जा चुके हैं। PUC सर्टिफिकेट नहीं होने की सूरत में लोगों पर 10 हजार रुपए तक का चालान भी किया जा रहा है। हालांकि, चालान की राशि पुलिस के द्वारा तय की जा रही है। PUC सर्टिफिकेट को बनावाने का खर्च महज 100 रुपए होता है।

ऐसे बनवाएं PUC सर्टिफिकेट
PUC सर्टिफिकेट की मदद से ये पता चलता है कि आपकी गाड़ी कितना पॉल्युशन कर रही है। दिल्ली-NCR में आपके पास ये सर्टिफिकेट होना बहुत जरूरी है, क्योंकि पॉल्युशन को कंट्रोल करने के लिए ट्रैफिक पुलिस उन गाड़ियों पर कड़ी निगरानी रखती है जो पॉल्युशन फैलाती हैं। PUC सर्टिफिकेट तभी जारी किया जाता है जब PUC सेंटर पर चेकिंग के दौरान गाड़ी तय सीमा के दायरे में पाई जाए। अगर आपकी गाड़ी प्रदूषण करती है, तो गाड़ी की रिपेयरिंग या ट्यूनिंग कराने के लिए कहा जाता है। ट्रांसपोर्ट विभाग ने दिल्‍ली के कई पेट्रोल पंप और वर्कशॉप पर पॉल्युशन चेकिंग सेंटर की लिस्ट जारी की है।

रॉयल एनफील्ड की पहली इलेक्ट्रिक मोटरसाइकिल से जुड़ी नई डिटेल आई, आप भी जानिए

PUC सर्टिफिकेट को लेकर कानून
एक समय के बाद कार का PUC सर्टिफिकेट रखना अनिवार्य हो जाता है। यदि आपके पास PUC सर्टिफिकेट नहीं है, या फिर एक्सपायर हो चुका है तो मोटर वीइकल्‍स एक्ट, 1988 की धारा 190(2) के तहत चालान काटा जाता है। इसमें 10 हजार रुपए का जुर्माना या 6 महीने की जेल या फिर दोनों हो सकते हैं। इतना ही नहीं, ट्रांसपोर्ट विभाग अपनी तरफ से PUC सर्टिफिकेट ना होने पर गाड़ी के ओनर का लाइसेंस 3 महीने के लिए सस्पेंड भी कर सकता है। यदि PUC सर्टिफिकेट होने के बाद भी गाड़ी पॉल्युशन ज्यादा कर रही है, तब 7 दिन के अंदर नया PUC सर्टिफिकेट लेना होगा।

ऐप पर पढ़ें