Hindi Newsधर्म न्यूज़Surya Grahan 2024: Will the second Solar Eclipse of the year visible in India? Don't do these 4 things even by mistake

क्या India में दिखेगा साल का दूसरा सूर्य ग्रहण? भूलकर भी न करें 4 काम

  • Surya Grahan 2024: इस साल का दूसरा सूर्य ग्रहण अश्विन मास की अमावस्था तिथि के दिन लगने जा रहा है। ऐसे में यह जानना काफी दिलचस्प रहेगा की ‘रिंग ऑफ फायर’ भारत में दिखेगा या नहीं।

Shrishti Chaubey नई दिल्ली,लाइव हिन्दुस्तान टीमThu, 20 June 2024 12:01 PM
हमें फॉलो करें

Surya Grahan 2024, Solar Eclipse 2024 में दो सूर्य ग्रहण हैं। साल का दूसरा सूर्य ग्रहण अक्टूबर में लगने जा रहा है। इस दिन हिंदू कैलेंडर में अश्विन मास की अमावस्था तिथि है। साल का दूसरा सूर्य ग्रहण 2 अक्टूबर को पड़ रहा है। 8 अप्रैल 2024 को साल का पहला सूर्य ग्रहण पड़ा था। यह सूर्य ग्रहण इसलिए भी खास था कि यह पूर्ण ग्रहण था और कुछ मिनटों के लिए पृथ्वी पर पूरी तरह से अंधकार छा गया था। भारतीय समय के अनुसार, साल का दूसरा सूर्य ग्रहण रात 9 बजकर 13 मिनट पर शुरू होगा और तड़के 3 बजकर 17 मिनट पर पूरा होगा। यानी यह वलयाकार सूर्य ग्रहण करीब 6 घंटे 4 मिनट रहने वाला है।

2, 11, 20, 29 तारीख में जन्में लोगों को नहीं करनी चाहिए इन लोगों से शादी

क्यों खास है साल का दूसरा सूर्य ग्रहण?

ज्योतिषाचार्य आचार्य अशोक पांडे ने बताया कि हिंदू कैलेंडर के मुताबिक साल का यह दूसरा सूर्य ग्रहण वलयाकार होगा, जिसे रिंग ऑफ फायर भी कहा जाता है।

सूतक लगेगा?

ज्योतिष विद्या के अनुसार, सूर्य ग्रहण लगने के लगभग 12 घंटे पहले सूतक काल लग जाता है, जो ग्रहण के खत्म होने तक रहता है। साल का दूसरा सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। इसलिए इस ग्रहण का सूतक काल भी मान्य नहीं होगा। सूतक काल के दौरान पूजा-पाठ नहीं करनी चाहिए और न ही भगवान को स्पर्श करना चाहिए।

26 दिन बाद सूर्य की एंट्री चंद्र की राशि में, इन राशियों को मिलेगा पैसा-प्रमोशन

कहां-कहां दिखेगा सूर्य ग्रहण?

साल का दूसरा सूर्य ग्रहण आर्कटिक, पेरू, दक्षिणी अमेरिका, प्रशांत महासागर, अर्जेंटीना और फिजी आदि देशों में दिखाई देने वाला है। इन देशों में 12 घंटे पहले सूतक काल लग जाएगा।

सूर्यग्रहण के दौरान क्या न करें?

जिन जगहों पर ग्रहण दिखेगा, वहां पर सूतक 12 घंटे पूर्व लग जाएगा। सूतक काल में वृद्ध और बीमार लोगों को छोड़ कर भोजन आदि करने से बचें। ग्रहण काल के दौरान गर्भवती महिलाओं को फल, सब्जी आदि काटने एवं नुकीली वस्तु के प्रयोग से बचना चाहिए। ग्रहण के दौरान पूजा-पाठ या भगवान को स्पर्श करने से बचें। सूर्य ग्रहण के दौरान प्रेग्नेंट महिलाओं को ग्रहण न तों देखना चाहिए न ही बाहर निकलना चाहिए।

 

कुंभ समेत 2 राशियों का जीवन राजा के समान, 60 दिन बाद से रहेगी शनि की शुभ दृष्टि

ऐप पर पढ़ें