ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News AstrologyWhen is Shivaratri in June Note date muhurat time pooja vidhi upay

Shivaratri : जून में शिवरात्रि कब है? नोट करें डेट, मुहूर्त, पूजाविधि, उपाय

Shivaratri in June: जून की शुरुआत में पड़ेगी मासिक शिवरात्रि। मान्यता है मासिक शिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूरे विधि-विधान से पूजा करने से सारी मनोकामनाएं पूरी की जा सकती हैं। 

Shivaratri : जून में शिवरात्रि कब है? नोट करें डेट, मुहूर्त, पूजाविधि, उपाय
Shrishti Chaubeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 26 May 2024 06:12 PM
ऐप पर पढ़ें

Shivaratri in June : हर महीने शिवरात्रि आती है, जिसे मासिक शिवरात्रि के नाम से जाना जाता है। ज्येष्ठ मास की कृष्ण चतुर्दशी तिथि पर जून की मासिक शिवरात्रि का व्रत रखा जाएगा। मासिक शिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूरे विधि-विधान से पूजा करने से सारी मनोकामनाएं पूरी की जा सकती हैं। आइए जानते हैं जून की शिवरात्रि का शुभ मुहूर्त और खास उपाय-

शुभ मुहूर्त
4 जून 2024 को रात 10 बजकर 01 मिनट पर ज्येष्ठ मास की चतुर्दशी तिथि की शुरुआत होगी, जो 5 जून के दिन शाम 7 बजकर 54 मिनट तक रहने वाली है। वहीं, 4 जून के दिन रात 10 बजकर 35 मिनट से सर्वाद्ध सिद्ध योग शुरू होगा, जो अगले दिन तक रहने वाला है। उदया तिथि के चलते, 5 जून को मासिक शिवरात्रि का व्रत रखा जाएगा। 

मासिक शिवरात्रि उपाय
अपने जीवन के सभी कष्टों को दूर करने के लिए सुबह स्नान कर साफ वस्त्र धारण करें और भगवान शिव की विधिवत पूजा करने के बाद शिव तांडव स्तोत्र का पाठ करें। प्रभु का दूध, दही, शहद, घी और गन्ने का रस समेत पांच चीजों से अभिषेक करें। फिर शिवलिंग पर सफेद चंदन, सफेद फूल, काला तिल, सफेद चावल और बेलपत्र अर्पित कर सकते हैं। इसके बाद घी का दीपक जलाकर भगवान शिव की आरती करें। अब शिव तांडव स्तोत्र का पाठ करें। शिव तांडव स्तोत्र का पाठ बेहद ही असरदार माना जाता है। इस पाठ को करने से जीवन में मिले सभी दुख-दर्द को दूर किया जा सकता है। 

शिव तांडव स्तोत्र पाठ नियम

  1. शिव तांडव स्तोत्र का पाठ सुबह या फिर प्रदोष काल में करना चाहिए।
  2. स्नान करने के बाद भगवान शिव की विधिवत पूजा कर इस पाठ की शुरुआत करनी चाहिए।
  3. तेज स्वर में इस स्तोत्र का गाकर पाठ करना अधिक लाभदायक माना जाता है।
  4. पाठ पूरा करने के बाद ॐ नमः शिवाय का मंत्र जाप भी करें।

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।