ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News AstrologyWhen is Amavasya in March note down the bathing auspicious time and special upay

Amavasya: मार्च में अमावस्या कब है, नोट कर लें स्नान-दान मुहूर्त और खास उपाय

Amavasya in March: अमावस्या पर भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा की जाएगी। फाल्गुन अमावस्या के दिन कुछ उपाय करने से नाराज पितरों को प्रसन्न करने के साथ काल सर्प दोष भी दूर हो सकता है।

Amavasya: मार्च में अमावस्या कब है, नोट कर लें स्नान-दान मुहूर्त और खास उपाय
Shrishti Chaubeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 27 Feb 2024 05:47 AM
ऐप पर पढ़ें

March Magh Amavasya: धार्मिक मान्यताओं में फाल्गुन अमावस्या को विशेष महत्व दिया गया है। फाल्गुन अमावस्या रविवार को 10 मार्च के दिन है। इस दिन भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा की जाएगी। फाल्गुनी अमावस्या के दिन कुछ उपाय करने से नाराज पितरों को प्रसन्न करने के साथ काल सर्प दोष भी दूर किया जा सकता है। इसलिए आइए जानते हैं फाल्गुन महीने की अमावस्या पर स्नान-दान का मुहूर्त और खास उपाय-   

12 साल बाद गुरु-शुक्र विराजेंगे साथ, इन राशियों को मिलेगा पैसा ही पैसा 

फाल्गुन अमावस्या मुहूर्त    
फाल्गुन, कृष्ण अमावस्या प्रारम्भ - 06:17 पी एम, मार्च 09
फाल्गुन, कृष्ण अमावस्या समाप्त - 02:29 पी एम, मार्च 10
स्नान-दान मुहूर्त- सुबह 05.20 - सुबह 06.21

पितृ दोष और काल सर्प दोष उपाय         
फाल्गुन अमावस्या की विशेष तिथि पर कुछ उपायों की मदद से पितृ दोष और काल सर्प दोष से मुक्ति मिल सकती है। इसलिए इस दिन पूरी श्राद्धा के साथ भगवान शिव की आराधना करें। वहीं, पितरों का आशीर्वाद पाने के लिए इस दिन पितृ स्तोत्र और पितृ कवच का पाठ जरूर करें। फाल्गुन अमावस्या पर ब्राह्मणों को भोजन कराने और तर्पण करने से पितरों की कृपा घर के सदस्यों पर बनी रहती है।      

स्नान-दान का विशेष महत्व       
फाल्गुन अमावस्या के दिन लोग पवित्र नदियों में स्नान कर पितरों को तर्पण और गरीबों को दान देते हैं। स्नान दान के बाद जगत के पालनहार भागवान विष्णु की विधि विधान से पूजा-अर्चना करते हैं। मान्यता है कि अमावस्या को स्नान-दान करने से पुण्य मिलता है। सुख और समृद्धि के साथ पूर्वजों को मोक्ष की प्राप्ति होती है। फाल्गुन अमावस्या के दिन व्रत रखने से कष्टों और संकट से मुक्ति भी मिलती है।          

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। विस्तृत और अधिक जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।         

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें