DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्मVijayadashami 2021: दशहरा या विजया दशमी कब है? शास्त्रों में इस दिन को क्यों मानते हैं श्रेष्ठ

Vijayadashami 2021: दशहरा या विजया दशमी कब है? शास्त्रों में इस दिन को क्यों मानते हैं श्रेष्ठ

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSaumya Tiwari
Mon, 11 Oct 2021 12:17 PM
Vijayadashami 2021: दशहरा या विजया दशमी कब है? शास्त्रों में इस दिन को क्यों मानते हैं श्रेष्ठ

दशहरा का त्योहार असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक है। हिंदू धर्म में दशहरा प्रमुख त्योहारों में से एक है। दशहरा को विजया दशमी के नाम से भी जानते हैं।  हिंदू पंचांग के अनुसार, दशहरा या विजया दशमी हर साल अश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। यह त्योहार अवगुणों को त्याग कर गुणों को अपनाने के लिए प्रेरित करता है। यही कारण है कि इसे बुराई पर अच्छाई का प्रतीक मानते हैं।

दशहरा कब है?

इस साल दशहरा का त्योहार 15 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इस दिन चंद्रमा मकर राशि और श्रवण नक्षत्र रहेगा। हिंदू पंचांग के अनुसार, दशहरा का त्योहार दिवाली से ठीक 20 दिन पहले मनाया जाता है।

दशहरा पूजन शुभ मुहूर्त-

15 अक्टूबर 2021 को दोपहर 02 बजकर 02 मिनट से दोपहर 02 बजकर 48 मिनट तक दशहरा पूजन का शुभ समय है। दशमी तिथि 14 अक्टूबर को शाम 06 बजकर 52 मिनट से शुरू होकर 15 अक्टूबर की शाम 06 बजकर 02 मिनट तक रहेगी। 

विजया दशमी का दिन होता है श्रेष्ठ-

भगवान श्री राम ने अधर्म, अत्याचार और अन्याय के प्रतीक रावण का वध करके पृथ्वीवासियों को भयमुक्त किया था और देवी दुर्गा ने महिषासुर नामक असुर का वध करके धर्म और सत्य की रक्षा की थी। इस दिन भगवान श्री राम, दुर्गाजी, लक्ष्मी, सरस्वती, गणेश और हनुमान जी की आराधना करके सभी के लिए मंगल की कामना की जाती है। समस्त मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए विजयादशमी पर रामायण पाठ, श्री राम रक्षा स्त्रोत, सुंदरकांड आदि का पाठ किया जाना शुभ माना जाता है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें