ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News AstrologyVenus Transit in Gemini 2024 Shukra gochar these zodiac signs horoscope

शुक्र कल से इन राशियों में मचाएंगे धमाल, इन राशियों को शुक्र देंगे लाभ

Venus Transit in Gemini 2024 Shukra gochar:स्वतंत्र भारत की कुंडली में लग्न के अनुसार देखा जाए तो शुक्र लग्न एवं छठे भाव के कारक होकर द्वितीय भाव अर्थात धन भाव में गोचर आरंभ करेंगे। परिणाम स्वरुप भारत

शुक्र कल से इन राशियों में मचाएंगे धमाल, इन राशियों को शुक्र देंगे लाभ
Anuradha Pandeyज्योतिर्विद डॉ दिवाकर त्रिपाठी,नई दिल्लीWed, 12 Jun 2024 12:13 AM
ऐप पर पढ़ें

धन और वैभव के देवता शुक्र कल 12 जून को मिथुन राशि में आ जाएंगे। इसके बाद जुलाई तक शुक्र इसी राशि में रहेंगे। स्वतंत्र भारत की कुंडली में लग्न के अनुसार देखा जाए तो शुक्र लग्न एवं छठे भाव के कारक होकर द्वितीय भाव अर्थात धन भाव में गोचर आरंभ करेंगे। परिणाम स्वरुप भारत के आर्थिक एवं व्यापारिक गतिविधियों में सुधार होगा । आर्थिक पक्ष मजबूत बना रहेगा। भारत का वर्चस्व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सकारात्मक रूप से बना रहेगा। राष्ट्र के कलाकारों के लिए अनुकूल समय होगा । सिनेमा, कला, लेखन, फ़िल्म आदि क्षेत्र के लिए समय अनुकूल प्रद रहेगा। आम जनमानस के सुख में वृद्धि होगी । आम जनमानस के मध्य हर्षोल्लास का वातावरण उत्पन्न होगा। महिलाओं के सम्मान एवं वर्चस्व में वृद्धि होगा। महिलाओं की प्रतिभा उभर कर बाहर आएगी। कन्या से लेकर मीन राशि में क्या प्रभाव पड़ेगा यहां देखें.

कन्या :- धनेश एवं भागेश होकर राज्य भाव में स्वगृही गोचर आरंभ करेगा। परिणाम स्वरूप नौकरी तथा व्यवसाय में प्रगति एवं परिवर्तन की स्थिति बनेगी। गृह एवं वाहन सुख में वृद्धि होगा। मातृ पक्ष से शुभ समाचार प्राप्त होगा। कार्यों में भाग्य का साथ प्राप्त होगा। धन संबंधित कार्यों में प्रगति होगी।

तुला :- लग्नेश एवं अष्टमेश होकर भाग्य भाव में गोचर आरंभ करेंगे । परिणाम स्वरूप मनोबल में उच्चता बनी रहेगी। कार्यों में भाग्य का साथ प्राप्त होगा। पिता के सहयोग एवं आशीर्वाद में वृद्धि होगी । सामाजिक पद प्रतिष्ठा एवं सम्मान में वृद्धि होगा। बौद्धिक क्षमता के आधार पर कार्यों में प्रगति कर पाएंगे।

वृश्चिक :- सप्तमेश एवं व्ययेश होकर अष्टम भाव में गोचर करेंगे। परिणाम स्वरूप जीवनसाथी के स्वास्थ्य को लेकर तनाव की संभावना बन सकती है। पारिवारिक कार्यों को लेकर भी तनाव की संभावना बन सकती है। भोग विलासिता के कारण मन में तनाव उत्पन्न हो सकता है । वाणी व्यवसाय के क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए समय अनुकूल रहेगा।

धनु :- रोगेश एवं लाभेश होकर सप्तम भाव में गोचर करेंगे। परिणाम स्वरूप दांपत्य सुख में वृद्धि । दैनिक आय में वृद्धि की स्थिति बनेगी। व्यापारिक गतिविधियों में सुधार होगा । प्रेम संबंधों में सकारात्मकता आएगी। स्वास्थ्य के कारण सामान्य तनाव संभव। मन मे प्रसन्नता का भाव बना रहेगा।

मकर :- पंचमेश एवं दशमेश होकर षष्ट भाव में गोचर आरंभ करेंगे। परिणाम स्वरूप परिश्रम में अवरोध अथवा अनियमितता की स्थिति बन सकती है। संतान पक्ष को लेकर सामान्य चिंता की स्थिति। अध्ययन अध्यापन में अवरोध की स्थिति। खर्च में अचानक वृद्धि संभव । कार्य क्षेत्र में प्रतिकूलता संभव।

कुम्भ :- सुखेश एवं भाग्येश होकर पंचम भाव गोचर करेंगे । परिणाम स्वरुप संतान पक्ष से शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। आर्थिक गतिविधियों में मजबूती आएगी। कार्यों में भाग्य का साथ प्राप्त होगा। सुख के संसाधनों में वृद्धि होगी। बौद्धिक क्षमता का सार्थक उपयोग हो पाएगा। माता के स्वास्थ्य में सुधार होगा।

मीन :- पराक्रमेश एवं अष्टमेश होकर चतुर्थ भाव में गोचर आरंभ करेंगे । परिणाम स्वरुप सुख के संसाधनों में सामान्य अवरोध की स्थिति बन सकती है। हृदय रोग अथवा छाती से संबंधित समस्या उत्पन्न हो सकती है। माता के स्वास्थ्य को लेकर तनाव हो सकता है। परिश्रम में सामान्य अवरोध की स्थिति उत्पन्न हो सकती है।