Hindi Newsधर्म न्यूज़Vat Savitri Vrat And Shani Jayanti Shub sanyog On 6 June 2024 and easy remedies to please maa lakshami

वट सावित्री व्रत के दिन बना महासंयोग, इन सरल उपायों से मां लक्ष्मी होंगी प्रसन्न , हर मनोकामना होगी पूरी

Vat Savitri Vrat 2024 and Shani Jayanti 2024 :दृक पंचांग के अनुसार, इस साल 6 जून को वट सावित्री व्रत और शनि जयंती एक ही दिन मनाया जाएगा। इस दिन किए गए विशेष उपायों से सभी कष्टों से मुक्ति मिल सकती है।

vat savitri vrat 2022
Arti Tripathi लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीThu, 6 June 2024 09:40 AM
हमें फॉलो करें

Vat Savitri Vrat 2024 Shubh Sanyog : दृक पंचांग के अनुसार, इस साल  ज्येष्ठ माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को वट सावित्री व्रत रखा जाएगा। 6 जून को वट सावित्री व्रत और शनि जयंती मनाया जाएगा। इस दिन शनि जयंती भी मनाया जाएगा। हिंदू धर्म में अमावस्या तिथि का बड़ा महत्व है। धार्मिक मान्यता है कि इस दिन स्नान-दान के कार्यों से सभी कष्टों से छुटकारा मिलता है। अमावस्या तिथि पर शनि जयंती और वट सावित्री व्रत के महासंयोग से इस दिन धार्मिक कार्यों का महत्व कहीं अधिक बढ़ जाता है। इस शुभ मौके पर पूजन और व्रत के कार्यों से सभी मनोकामनाएं पूरी होती है और जीवन में सुख-समृद्धि औऱ खुशहाली आती है। आइए जानते हैं सुख-सौभाग्य का आशीर्वाद पाने के लिए वट सावित्री व्रत से जुड़े विशेष उपाय...

वट सावित्री व्रत के उपाय :

शनिदेव की कृपा पाने के लिए

वट सावित्री व्रत और शनि जयंती के दिन हनुमान चालीसा पढ़ते हुए वट वृक्ष की परिक्रमा करें। मान्यता है कि ऐसा करने से शनिदेव की कृपा मिलती है और जीवन की सभी परेशानियां दूर होती हैं।

धन की तंगी से छुटकारा पाने के लिए

धन की तंगी से छुटकारा पाने के लिए वट सावित्री के मौके पर मां लक्ष्मी की विधिवत पूजा करें और उन्हें 11 पीली कौड़ियां अर्पित करें। पूजा के बाद इन कौड़ियों को लाल कपड़े में बांधकर तिजोरी में रख लें। मान्यता है कि ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है और धन, सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देती है।

खुशहाल वैवाहिक जीवन के लिए

वैवाहिक जीवन की दिक्कतों से छुटकारा पाने के लिए वट सावित्री व्रत के दिन पति के साथ 21 बार बरगद के पेड़ की परिक्रमा करें। वृक्ष के नीचे घी का दीपक जलाएं और पूजा करें। मान्यता है कि ऐसा करने से मैरिड लाइफ में खुशहाली आती है।

ग्रह दोषों से मुक्ति के लिए

कुंडली में ग्रह दोषों से मुक्ति पाने के लिए वट सावित्री व्रत के दिन बरगद के पेड़ की  11 बार परिक्रमा करें। वट वृक्ष की पूजा करें। पेड़ पर कच्चा दूध अर्पित करें। मान्यता है कि ऐसा करने मात्र से कुंडली के दोषों से मुक्ति मिलती है।

सुख-समृद्धि के उपाय 

वट सावित्री व्रत और शनि जयंती के दिन काले घोड़े की नाल घर के दरवाजे पर स्थापित करें। मान्यता है कि घर में काले घोड़े की नाल लगाने से शनि के अशुभ प्रभावों से छुटकारा मिलता है और शनिदेव का आशीर्वाद मिलता है।

डिस्क्लेमर: इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य है और सटीक है। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।


 

ऐप पर पढ़ें