Monday, January 17, 2022
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्मइस दिन सागर में मिली थीं मां गंगा, दान करने से मिलता है सौ गुना फल 

इस दिन सागर में मिली थीं मां गंगा, दान करने से मिलता है सौ गुना फल 

लाइव हिन्दुस्तान टीम ,meerutArpan
Fri, 14 Jan 2022 01:11 PM
इस दिन सागर में मिली थीं मां गंगा, दान करने से मिलता है सौ गुना फल 

इस खबर को सुनें

सूर्यदेव और भगवान श्री हरि को समर्पित मकर संक्रांति के त्योहार को लेकर मान्यता है कि इस दिन ही मां गंगा, भगवान शिव की जटाओं से निकलकर भागीरथ के पीछे-पीछे चलकर कपिल मुनि के आश्रम से होकर सागर में मिली थी। यह भी कहा जाता है कि मकर संक्रांति के दिन सूर्यदेव अपने पुत्र शनिदेव से मिलने उनके घर जाते हैं। सूर्यदेव की कृपा जिस पर होती है, वह समाज में यश, कीर्ति, पद, प्रतिष्ठा प्राप्त करता है। इस त्योहार पर कुछ उपाय अवश्य करने चाहिए, आइए जानते हैं इनके बारे में।

मकर संक्रांति पर दान का विशेष महत्व है। मान्यता है कि इस दिन किया गया दान सौ गुना होकर दान देने वाले को वापस प्राप्त होता है। मकर संक्रांति के दिन काले तिल से शनिदेव की पूजा करें। ऐसा करने से शनि दोष का प्रभाव कम हो जाता है। इसी दिन राजा भागीरथ ने अपने पूर्वजों का तर्पण कर उनकी आत्माओं को तृप्त किया था। इस दिन पितरों के निमित किए गए तर्पण से पितर प्रसन्न होते हैं। इस दिन घर में सूर्यदेव की तांबे की प्रतिमा लगाएं। घर में उस स्थान पर सूर्यदेव की प्रतिमा लगाएं, जहां सभी परिजन एक साथ एकत्र होते हों। बच्चों के कमरे में भी सूर्यदेव की प्र​तिमा लगा सकते हैं। मकर संक्रांति पर पवित्र नदियों में स्नान, पूजा-पाठ और दान करने का विशेष महत्व है। मकर संक्रांति पर तिल का दान करने की परंपरा है। सूर्यदेव और भगवान श्री हरि विष्णु भी तिल का दान करने से प्रसन्न होते हैं। मकर संक्रांति पर खिचड़ी का दान करें। इस त्योहार पर ऊनी कपड़े का दान करना शुभ माना जाता है। मकर संक्रांति के दिन पक्षियों को दाना खिलाएं। इस दिन गाय को हरा चारा खिलाएं। कहा जाता है कि जो व्यक्ति मकर संक्रांति के दिन स्नान नहीं करता है वह रोगी और निर्धन बना रहता है। इस दिन तिल से स्नान करने वाला मनुष्य जीवनभर निरोगी रहता है। इस दिन भगवान सूर्य को जल अर्पित करने के बाद पितरों का स्मरण करते हुए तिलयुक्त जल देने से पितर प्रसन्न होते हैं। यदि कोई रोगी है तो उसे मकर संक्रांति के दिन तिल का उबटन लगाकर स्नान करना चाहिए। मकर संक्रांति के दिन तेल का दान करने से पहले ध्यान रखें कि यह प्रयोग में न लाया गया हो। इस दिन किसी को स्टील की वस्तुएं दान नहीं करनी चाहिए। मकर संक्रांति पर झाड़ू का दान न करें। इस त्योहार पर वस्त्रों का दान करना शुभ है मगर वस्त्र काले रंग के ना हों। इस दिन गाय के दूध से बने घी का दान करने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है। 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें