DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चों से कराएं दान, परिवार सहित करें तीर्थयात्रा

कड़ी मेहनत के बाद भी अगर सफलता नहीं मिल रही हो तो इसका कारण दुर्भाग्य या हमारे आसपास मौजूद नकारात्मक ऊर्जा हो सकती है। सफलता के लिए मेहनत जितना जरूरी है उतना ही भाग्य का साथ मिलना भी आवश्यक है। अगर मेहनत और भाग्य एक साथ मिल जाएं तो सफलता मिलना निश्चित है। वास्तु में कुछ आसान से उपाय बताए गए हैं, जिन्हें अपनाकर हम अपने जीवन से दुर्भाग्य को दूर कर सकते हैं। आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में।

सुबह उठें तो सबसे पहले ईश्वर का स्मरण करें। नित्य प्रति हनुमान चालीसा का पाठ करें। भाग्य का साथ पाने के लिए परिवार सहित तीर्थयात्रा पर अवश्य जाएं। इससे घर परिवार में धन-संपत्ति में वृद्धि होती है। बच्चे मन से निर्मल होते हैं। ऐस में बच्चों से दान अवश्य कराएं। ऐसा करने से पूरे परिवार को सौभाग्य की प्राप्ति होती है। अमावस्या के दिन किसी निर्धन को भोजन कराएं। पितरों को सच्‍चे मन से याद करें। गोमाता को धरती पर ईश्वर का वरदान माना जाता है। घर में बन रहे भोजन में से गोमाता का भाग अवश्य निकालें। ऐसा करने से मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। रात को सोते समय एक बर्तन में पानी भरकर बिस्तर के पास रख दें। सुबह उठकर वह पानी किसी पौध में चढ़ा दें। रसोईघर में हर शाम दीपक जलाएं। ऐसा करने से नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव दूर हो जाता है। शाम के समय कभी भी घर में झाड़ू-पोछा न करें। ऐसा करने से आर्थिक हानि हो सकती है। घर में देवी-देवताओं का रोजाना ताजे फूलों से शृंगार करें। जब भी आप घर में प्रवेश करें तो कभी खाली हाथ न जाएं। हमेशा कुछ न कुछ लेकर ही प्रवेश करें। रोजाना सुबह-शाम कपूर से आरती करें। ऐसा करने से परिवार में आकस्मिक दुर्घटना की आशंका कम हो जाती है।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य व सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:vastu
Astro Buddy