DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इन उपाय से चहकेंगे बच्चे, छुएंगे आसमान

संतान की उन्नति, उनके बेहतर स्वास्थ्य और उनकी लंबी उम्र के लिए अहोई अष्टमी पर माताएं व्रत रखती हैं। बच्चों से ही हमारी दुनिया में खुशियां हैं। वास्तु शास्त्र में बच्चों के बेहतर जीवन के लिए कुछ आसान से उपाय बताए गए हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में।

बच्चे सकारात्मक ऊर्जा से परिपूर्ण रहें, इसका विशेष ध्यान रखें। बच्चों के कमरे में पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था रहनी चाहिए। बच्चों के कमरे में उनके सोने का बेड अधिक ऊंचा नहीं होना चाहिए । बच्चों के कमरे में उत्तर दिशा को बिल्कुल खाली रखना चाहिए। बच्चों के कमरे में हिंसा दर्शाती हुई तस्वीरें न हों। महापुरुषों के चित्र, प्राकृतिक सौंदर्य वाले चित्र कमरे में लगा सकते हैं। भगवान श्रीगणेश तथा माता सरस्वती का चित्र बच्चों के कमरे के पूर्वी भाग में लगाएं। बच्चों की रुचि जिस क्षेत्र में है उससे संबंधित चित्र बच्चों के कमरे में लगाएं। बच्चों के कमरे से घर की तरफ कोई खिड़की या झरोखा खुला हुआ नहीं होना चाहिए।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। इन्हें अपनाने  से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Vaastu remedies for children