अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इसलिए भी खास है सूर्य ग्रहण, 13 जुलाई से शुरू हो रहे हैं गुप्त नवरात्र, पढ़ें घट स्थापना का मुहूर्त

आषाढ मास की अमावस्या यानी 13 जुलाई को है सूर्य ग्रहण, यह तिथि इसलिए भी खास है क्योंकि इस दिन गुप्त नवरात्रि शुरू हो रहे हैं। अगर आपक गुप्त नवरात्रि पर पूजा करना चाहते हैं तो घटस्थापना सुबह 8 बजकर 17 मिनट के बाद ही कर सकते हैं। गुप्त नवरात्रि 21 जुलाई तक चलेंगे। 

आषाढ़ और माघ मास के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली नवरात्र को गुप्त नवरात्र कहा जाता है। सूर्य ग्रहण पड़ने के कारण इस दिन सुबह 8 बजकर 17 मिनट के बाद  पूजा की जा सकती है।

यहां पढ़ें सूर्य ग्रहण का समय
13 जुलाई को आषाढ़ कृष्ण पक्ष अमावस्या
प्रात: 7 बजकर 18 मिनट और 23 सेकंड से शुरू और मोक्ष 9 बजकर 43 मिनट 44 सेकंड बजे होगा।

प्रतिपदा से लेकर नवमी तक नवदुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। गुप्त नवरात्रि में दस देवीयों मां काली, तारा देवी, त्रिपुर सुन्दरी, भुवनेश्वरी, माता छिन्न महता, त्रिपुरी भैरवीं, मां धूमावती, माता बगुला मुखी, मातंगी व कमला देवी की पूजा कर अभिष्ट सिद्धियां पाई जा सकती हैं। 

इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैंजिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।

गुप्त नवरात्रि 2018: पुष्य नक्षत्र में होगी नवरात्रि की शुरुआत, जानें क्या है पूजा का सर्वश्रेष्ठ समय

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:this solar eclipse is sepcial on july 13 day of surya grahan gupt Navaratri also starting read ghat sthapna shubh muhurat