DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Janmashtami 2019: जन्माष्टमी पर बन रहा है ये संयोग, लड्डू गोपाल को प्रसन्न करने के लिए करें ये काम

bhadrapada krishna janmashtami

इस बार 23 अगस्त शुक्रवार को अष्टमी तिथि व रोहिणी नक्षत्र से युक्त अत्यंत पुण्यकारक जयंती योग में मनाया जाएगा। वही वैष्णव संप्रदाय व साधु संतो की कृष्णाष्टमी 24  अगस्त दिन  शनिवार को उदया तिथि अष्टमी एवं औदयिक रोहिणी नक्षत्र से युक्त सर्वार्थ अमृत सिद्धियोग में मनाई जाएगी।

जन्माष्टमी के दिन वैसे तो भगवान को कई चीजों का भोग लगाया जाता है। लेकिन आप जन्माष्टमी पर अगर भगवान श्रीकृष्ण को सफेद मिठाई, साबुदाने अथवा चावल की खीर यथाशक्ति मेवे डालकर बनाकर उसका भोग लगाएं उसमें चीनी की जगह मिश्री डाले एवं तुलसी के पत्ते भी अवश्य डालें। इससे भगवान श्री कृष्ण की कृपा से ऐश्वर्य प्राप्ति के योग बनते है।

janmashtami 2019: इस तारीख को है जन्माष्टमी, यह है पूजा का मुहूर्त

कृष्ण जन्माष्टमी पूजा का शुभ मुहूर्त  
अभिजीत मुहूर्त -  दोपहर 12:04 से 12 :55 बजे तक
जन्माष्टमी निशिता पूजा का समय - मध्य रात्रि 12:09 से 12: 47 बजे तक 
निशिता पूजा शुभ मुहूर्त की अवधि -  38 मिनट

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:This coincidence is being made on Janmashtami do this work to please Lord krishna
Astro Buddy