DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Teej 2018: हरितालिका तीज व्रत के दौरान भूलकर भी न करें ये 5 काम

teej 2018

पौराणिक मान्यता के अनुसार हरितालिका तीज का व्रत सुहागिन महिलाएं पति और परिवार का सौभाग्य प्राप्त करने के लिए जबकि कुंवारी लड़कियां अच्छा वर पाने के लिए करती हैं। कहा जाता है इस व्रत को पूरी श्रद्धा से करने वाली महिलाओं की मनोकामना पूरी होती है। इस व्रत के लिए दो-तीन दिन पहले ही तैयारियां शुरू हो जाती हैं। लेकिन कई बार अनजाने में ऐसी गलतियां हो जाती हैं जिससे व्रत का फल नहीं मिलता, इसके विपरीत अशुभ फल मिलने की भी बात कही जाती है।

तो आइए जानते हैं कौन से 5 काम नहीं करने चाहिए-


1 - पौराणिक कथाओं की मान्यता के अनुसार व्रत करने वाली महिलाओं को व्रत के दिन रात में सोना नहीं चाहिए।  तीज की रात को सभी महिलाओं को मिलकर भजन गायन या जागरण करना चाहिए। कहा जाता है कि तीज की रात को यदि व्रत करने वाली महिला सोती है तो उसे अगले जन्म में पशु का रूप मिलता है।


2- तीज का व्रत करने वाली महिलाओं को शांत रहना चाहिए, उन्हें किसी प्रकार का क्रोध नहीं करना चाहिए। शायद इसीलिए महिलाओं के हाथ में मेहंदी लगाने का चलन है।

3- मान्यता है कि तीज का व्रत निर्जला करना चाहिए इस दौरान कुछ भी खाना-पीना नहीं चाहिए। कहा जाता है व्रत के दौरान यदि कोई कुछ खा पी लेता है तो उसे अगले जन्म में वानर का रूप धारण करना पड़ता है।

यह भी पढ़ें- हारितालिका तीज 12 को, पति की लंबी आयु के लिए 24 घंटे निर्जला उपवास पर रहेंगी सुहागिनें


4- यह भी कहा जाता है कि जो लड़कियां या महिलाएं इस व्रत को नहीं करतीं हैं, उन्हें अगले जन्म में मछली बनना पड़ता है। जबकि इस दिन मांसाहार करने वाली लड़कियों को घोर श्राप मिलता है।

5- व्रत के दौरान किसी भी महिला को दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से अलगे जन्म में सर्प योनि में जन्म मिलता है।

ध्यान दें - इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैंजिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:teej vrat 2018: things not to do during haritalika teej vrat according to hindu mythology