DA Image
1 मार्च, 2021|3:22|IST

अगली स्टोरी

surya grahan 2020: जानें 14 दिसंबर को पड़ने वाले सूर्य ग्रहण का समय, महत्व और असर

solar eclipse december 2020  khandgras surya grahan

surya grahan 2020: साल का आखिरी सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) 14 दिसंबर 2020, सोमवार को पड़ने जा रहा है। 14 दिसंबर को अमावस्या भी है। इस दिन रात को लगने वाले इस ग्रहण को भारतीय ज्योतिष में खंडग्रास ग्रहण माना गया है।

खंडग्रास सूर्यग्रहण क्या है?
जब पृथ्वी और सूर्य के बीच चंद्रमा आता है तो इस स्थिति को सूर्य ग्रहण कहते हैं। लेकिन चंद्रमा जब आंशिक रूप से सूर्य को ढके तो इस खंड -ग्रास सूर्य ग्रहण कहते हैं। यानी  14 दिसंबर को होने वाला सूर्य ग्रहण आंशिक ग्रहण (खंडग्रास सूर्य ग्रहण) होगा।

सूर्य ग्रहण का समय -
रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय समायानुसार 14 दिसंबर को शाम 07:03 से ग्रहण शुय होगा और रात्रि 12:23 बजे समाप्त होगा। यह ग्रहण करीब 5 घंटे से ज्यादा लंबे वक्त तक रहेगा।

शनि समेत अन्य ग्रह-नक्षत्रों के बुरे प्रभाव से बचाता है शमी का पेड़, जानें इसका ज्योतिषीय और औषधीय महत्व

खंडग्रास सूर्य ग्रहण का असर और महत्व-
वैसे तो ग्रहण एक आम खगोलीय घटना है जिसका इंसानी जीवन पर खास महत्व नहीं होता लेकिन ज्योतिषीय गणना में इसे काफी महत्वपूर्ण माना गया है। ग्रहण का असर राशियों और लोगों के भविष्य के समय पर पड़ता है। लेकिन इस बार यह भारत में दिखाई नहीं देने के कारण इसका असर नहीं होगा। सूर्यग्रहण रात्रि में होने के कारण इसका यहां सूतक भी नहीं लगेगा और न ही किसी को विशेष सावधानियां अपनानी पड़ेंगे। अगर यह ग्रहण दिखाई देता तो गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी बरतनी बड़ती लेकिन इस बार इसका असर नहीं होगा।

यहां दिखेगा ग्रहण -
14 दिसंबर 2020 को पड़ने वाले ग्रहण को दक्षिण अमेरिका, दक्षिण अफ्रीकी देशों व प्रशांत महासागर के कुछ इलाकों में देखा जा सकेगा।

2021 में सूर्य ग्रहण -
साल 2021 में दो सूर्य ग्रहण पडेंगे। पहला 10 जून को होगा तो दूसरा 10 दिसंबर 2021 को।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:surya grahan 2020: know the time importance and impact of solar eclipse on 14 december