DA Image
28 जनवरी, 2020|9:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Surya Grahan 2019: सूर्यग्रहण से एक दिन पहले ही बंद हो जाएंगे मंदिरों के कपाट, इन कामों को करना होता है वर्जित

solar

सूर्यग्रहण के समय कुछ कामों को वर्जित माना जाता है।साल का आखिरी सूर्यग्रहण 26 दिसम्बर को लगने वाला है।खंडग्रास सूर्यग्रहण के चलते 26 दिसंबर को नगर के मंदिरों में पूजन दर्शन एक दिन पहले ही रात को 8 बजते ही बंद हो जायेंगे। सूर्यग्रहण के चलते 12 घंटों पहले लगने वाले सूतक के चलते 25 दिसंबर बुधवार रात 8 बजे के बाद से ही मंदिरों में पूजा पाठ बंद हो जाएंगे।

 

सूर्य ग्रहण और सूतक काल समय (solar eclipse December 2019 Date And Sutak Time) 
सूर्य ग्रहण का सूतक ग्रहण से 12 घंटे पहले 25 दिसंबर को शाम 5 बजकर 32 मिनट से शुरू हो जायेगा जिसकी समाप्ति 26 दिसंबर को सुबह 10 बजकर 57 मिनट पर होगी।  सूतक काल में किसी भी तरह के शुभ कार्य नहीं किये जाते हैं। बताया जा रहा है कि यह आंशिक सूर्य ग्रहण सुबह 8.17 मिनट से शुरू हो जायेगा और इसकी समाप्ति 10:57 पर होगी। 
काशी समय के अनुसार, 26 दिसंबर को सूर्यग्रहण सुबह 8:21 बजे से शुरू होगा। 8:21 बजे से स्पर्श केबाद 9:40 बजे ग्रहण का मध्य होगा, 11:14 बजे मोक्ष होगा। ग्रहण लगभग 173 मिनट लंबा चलेगा। लखनऊ में यह इस बार एक मिनट पहले 8:20 बजे से शुरू होगा। सूर्यग्रहण का सूतक काल 12 घंटे पहले से शुरू हो जाएगा।

 

इन कामों को करने से बचें 
शास्त्रों के मुताबिक, ग्रहण के दौरान भगवद मूर्ति स्पर्श करना, भोजन आदि समेत तमाम वर्जित कार्यों से बचना श्रेयस्कर बताया गया है।खंडग्रास सूर्यग्रहण कर्क, तुला, कुंभ, मीन के लिए शुभ फलकारक परिणाम लाएगा, जबकि अन्य जातकों के लिये ये मिला जुला रहेगा। ज्योतिषियों के मुताबिक, बृहस्पतिवार की सुबह 8:21 बजे से ही सूर्यग्रहण लग रहा है, ऐसे में सूतक के चलते 12 घंटों पहले से ही मंदिर के कपाट बंद हो जाएंगे।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:surya grahan 2019 solar eclipse 26 december avoid these things to do during grahan