DA Image
28 जनवरी, 2020|9:40|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सक्सेस मंत्र: नजरिया बदलें, बेहतर रास्ते खुद-ब-खुद बनते चले जाएंगे

success tips

भोजन और खुशी का आपस में गहरा संबंध होता है। अगर खाने के साथ उसे बनाना पेशा बन जाए तो खुशी दोगुनी हो जाती है, ऐसा मानना है भारतीय शेफ विकास खन्ना का। वह विश्व-विख्यात शेफ हैं, जिनके विदेश में कईरेस्त्रां हैं। वह खानपान पर किताब भी लिख चुके हैं। इस पर फिल्म और टीवी शो भी करते रहे हैं।

कैसे हुए प्रेरित
विकास खन्ना पंजाब के अमृतसर से ताल्लुक रखते हैं। जब उनका जन्म हुआ था, तब डॉक्टर ने उनकी मां से कहा कि वह कभी चल या दौड़ नहीं पाएंगे। उनके पैर विकृत हैं। लेकिन उनकी मां ने यह मानने से इंकार कर दिया। कुछ सालों तक उनकी मां इस चीज से जूझती रहीं कि वह भी दूसरे बच्चों के साथ दौड़ और खेल सके।

जब लोग उनका मजाक उड़ाते, तो उनकी मां कहतीं, ‘यह चलने के लिए नहीं, उड़ने के लिए पैदा हुआ है।' मां की यह बात छोटे विकास में विश्वास जगाती। वह थोड़े बड़े हुए तो लकड़ी के बड़े जूते पहन कर स्कूल जाते थे। बच्चे कभी उन्हें पोलिया से ग्रस्त तो कभी अभिशप्त कहते। पर उन्होंने दूसरों की ऐसी बातें नहीं सुनीं। अपनी और अपनी मां की बातें सुनीं, जो कहती थीं कि तुम कुछ अलग करने के लिए बने हो।

जब सभी रास्ते उनके लिए बंद थे, तब किचन का रास्ता खुला था। घर पर एक छोटी सी रसोई थी, जहां उनकी दादी शानदार भोजन तैयार करती थीं। यहां वह अपनी दादी को खाना बनाने में मदद करने लगे। इस तरह वह धीरे-धीरे खाना बनाने में कुशल हुए। उन्हें तब अमृतसर में स्वर्ण मंदिर जाना सबसे अच्छा लगता था। जहां वह बाकी लोगों के साथ लंगर की तैयारी से जुड़े काम में लगे रहते। वहां उन्हें खुद की आवाज को सुनने का मौका मिला और समझ पाए कि वह एक शेफ बनना चाहते हैं। यहां उन्होंने सभी का शुक्रिया अदा करना सीखा। खासकर उनका, जिन्होंने उन्हें नीचे गिराने की कोशिश की। ऐसा इसलिए, क्योंकि वह ही आपको आपकी क्षमता से रूबरू कराते हैं। वह साल 2000 में नए सपने और सोच के साथ अमेरिका गए। वहां उन्होंने छोटे से छोटा काम किया। एक बार वहां एक अमेरिकी शेफ ने उनके साथ बहुत बुरा बर्ताव किया। उन्होंने उसकी नौकरी छोड़ी, खुद से वादा किया कि वह एक दिन कुछ बड़ा करके दिखाएंगे। उन्होंने अंग्रेजी सीखी और बहुत से बड़े शेफ के साथ काम किया। साल 2004 में उन्हें जेम्स बीयर्ड हाउस के लिए खाना बनाने का मौका मिला। यह खानपान के क्षेत्र में ऑस्कर मिलने जैसा होता है।

उन्होंने इसे जीता। नौकरी छोड़ी और लक्ष्य बनाया कि वह अमेरिका में भारतीय खाने और संस्कृति को आगे ले जाएंगे। उन्होंने एक संस्थान में प्रवेश लिया और भोजन और धर्म विषय पर शोध करने लगे। यह ‘होली किचन' नाम से डॉक्यूमेंट्री सिरीज के रूप में सामने आई। बाद में ‘उत्सव' नाम की एक किताब प्रकाशित हुई, जिसमें भारत के खानपान के तमाम पक्षों को समेटा गया है। यह किताब 2015 में कान्स फिल्म फेस्टिवल में लॉन्च हुई। जिंदगी की तमाम चुनौतियों ने उन्हें आज एक विख्यात शेफ बनाया। अभिषेक नागर

काम की बात 
अकसर जीवन में ऐसा पड़ाव आता है, जब आगे बढ़ने के सभी रास्ते बंद नजर आने लगते हैं। तब यकीन करें कि कोई बेहतर रास्ता आपके लिए जरूर खुला हुआ है। सिर्फ आपको देखने का नजरिया बदलने की जरूरत है।
विकास खन्ना (विश्व-विख्यात शेफ, लेखक व फिल्मकार) कहते हैं- सभी का शुक्रिया अदा करो। खासकर उनका, जिन्होंने आपको गिराने की कोशिश की, क्योंकि वह ही आपको आपकी क्षमताओं से रूबरू कराते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Success Tips: Change Your Thoughts and Transform Your Life