अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सक्सेस मंत्रः मन के हारे हार है, मन के जीते जीत

success mantra

पूरा यूरोप यूनान की फौजों से भयभीत था। अजेय समझे जाने वाले यूनानियों की धाक उन दिनों सभी देशों पर छाई हुई थी। वह जिस पर भी आक्रमण करते, वह हिम्मत हारकर बैठ जाता और अपनी पराजय स्वीकार कर लेता। 

मगर रोम के सेनापति सीजर ने देखा कि इन पराजय का कारण लोगों में फैली आत्महीनता ही है, जिसके कारण उन्होंने अपने को कमजोर और यूनानियों को ताकतवर स्वीकार कर लिया है। इस मनःस्थिति को बदला जाना चाहिए।

सीजर ने अपने देश की सभी दीवारों पर यह वाक्य लिखवाया- ‘यूनानी फौजें तभी तक अजेय हैं, जब तक हम उनके सामने घुटने टेके बैठे हैं। आओ तनकर खड़े हो जायें।’ इस वाक्य का रोम की जनता पर जादू जैसा असर हुआ। जमकर लड़ाई लड़ी गई और अजेय समझा जाने वाला यूनान परास्त हो गया।

कहानी से सीख- हमारे साथ भी अक्सर ऐसा ही होता है, जब हम अपनी ताकतों को काम आंकते हैं और अपने आप को कमजोर समझने की भूल करते रहते हैं। हमें भी समय-समय पर प्रेरणा की जरुरत होती है जो हमें फिर से अपना उत्साह पाने में मदद करती है और हमारे अंदर की शक्तियों को जागृत करने में मदद करती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:success mantra to achieve success depends on your attitude