DA Image
1 जून, 2020|10:39|IST

अगली स्टोरी

Success Mantra: लॉकडाउन के दौरान खुद को पॉजिटिव रखने के ये हैं सक्सेस टिप्स, आप भी आजमाएं

stress

एकाध दिन घर पर रहना तो चलता है, मगर कोई लंबे समय तक आपको घर पर रहने के लिए कहे, तो हाथ-पैर फूलने लगते हैं।  ऐसे में सकारात्मक और शांत रहना बहुत जरूरी है, इसलिए तनाव से दूर रहने के लिए हम आपके लिए लाए हैं कुछ शानदार तरीके 

ऐसे समय में जब लोग कोविड-19 के खिलाफ ‘सोशल डिस्टेंसिंग’ का अभ्यास कर रहे हैं, हममें से कुछ के लिए घर पर टिके रहना मुश्किल हो सकता है। लॉकडाउन की इस लंबी अवधि में घबराहट बढ़ सकती है। इसलिए, इस महामारी के बीच सकारात्मक रहना जरूरी हो गया है। जैसा कहा जाता है, मुश्किलों में भी उम्मीद का दामन नहीं छोड़ना चाहिए। यह समय भी ऐसा है कि हमें जिंदगी की सहज चीजों में ही आनंद खोजना चाहिए।

अरोमा थेरेपी के फायदे-  
सौंदर्य विशेषज्ञ, मल्लिका गंभीर बताती हैं, अरोमा थेरेपी  ऑयल, तनाव भगाने में काफी मददगार होता है और यह तनाव के एहसास को कम करता है। आप इसके इस्तेमाल से अपने मन को तरोताजा कर सकते हैं, क्योंकि इनका कोई बुरा असर नहीं होता है। लैवेन्डर, नेरोली, चंदन, जैस्मीन, कैमोमिल, बर्गामाट, और गुलाब आदि का तेल, दिमाग को शांति और आराम देते हैं। ये तेल अवसाद को दूर रखने में काफी उपयोगी हैं और तनाव और घबराहट से लड़ने में सहायक हैं। किसी दूसरे उपयोगी तेल के साथ मिलाकर आप इन्हें रूम स्प्रे या मसाज ऑयल की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। नहाने से पहले इनकी कुछ बूंदें बाथ टब में डाल सकते हैं। 

मैक्स हेल्थकेयर के क्लिनिकल न्यूट्रिशन और डायटेटिक्स विभाग की रीजनल डायरेक्टर, रितिका समादार कहती हैं, अखरोट, बादाम, सिंघाड़ा, कद्दू के बीजों को भी आहार में शामिल किया जा सकता है। केला एमीनो एसिड का अच्छा स्त्रोत है, जो तुरंत अच्छा एहसास कराता है। डार्क चॉकलेट के अलावा कॉफी भी मूड को तरोताजा करने का अच्छा जरिया है। स्प्राउट्स, चना, खजूर और अंजीर भी काफी बेहतर विकल्प हैं।

चुनें ऐसा फूड जो ठीक करे मूड-  
हॉलिस्टिक न्युट्रिशनिष्ट, शिखा महाजन कहती हैं, सिर्फ मूड को ही साधना है, इसलिए कुछ भी गलत-सलत खाना नहीं चाहिए। काजू-बादाम जैसे मेवा के छोटे-छोटे टुकड़ों को आपस में मिलाकर पीस लें। फिर उनके छोटे-छोटे लड्डू बनाकर खाएं। इससे आपका मूड बेहतर रहेगा। घर पर ताजा दही जमाएं। फिर उसे ताजे तरबूज और आडू़ के साथ खाएं। रोजाना चॉकलेट खाई जा सकती है, क्योंकि यह अवसाद दूर करने में काफी सहायक है। मैं तो हफ्ते में एक बार केक और ब्राउनी खाने की सलाह भी दूंगी। 

नियम तय करें- 
क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट, प्रियंका वर्मा ने अपने अधिकतर क्लाइंट्स को अवसाद की शिकायत करते पाया है। वह कहती हैं, जो आप करने के अभ्यस्त हैं, वही नियम लॉकडाउन के दौरान भी बनाए रखें। इस समय आप ऑनलाइन न सिर्फ अपने परिवार से, बल्कि दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में रहने वालों से भी संपर्क में हैं। दूसरा, अपने नियम बनाना भी जरूरी है। अपने परिवार को बताएं कि यह मेरे काम का समय है, इस समय मुझे परेशान न किया जाए। हफ्ते भर के कामों की पहले से योजना बना लें। यह समय अपने काम को दे सकते हैं। साथ में कोई नई गतिविधि भी शुरू करें। यह सिर्फ नेटफ्लिक्स और साथी के साथ समय बिताना भर नहीं है। 

मनीष मिश्रा

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Success Mantra:These tips to help you keep your calm and make you positive during lockdown