DA Image
29 मई, 2020|5:29|IST

अगली स्टोरी

सक्सेस मंत्रः बियर ग्रिल के जीवन से सीखें सफलता का रास्ता, मुश्किलों के बाद भी बनाई पहचान

सक्सेस मंत्र

पढ़ाई पूरी करने के बाद बियर ग्रिल सेना में भर्ती होना चाहते थे, जिससे उन्हें कई ऊंचे शिखरों को फतह करने का मौका मिल सके। इसी वजह से उन्होंने ब्रिटिश आर्मी को जॉइन किया। लेकिन 1996 में जांबिया में उनके साथ एक दुर्घटना हुई, जिसने उनकी जिंदगी को काफी कठिनाइयों में पहुंचा दिया। दरअसल, 16,000 फुट की ऊंचाई पर उनका पैराशूट पूरा नहीं खुल पाया और वह नीचे आ गिरे। इस दुर्घटना के बाद उनकी रीढ़ की हड्डी में गहरी चोट आ गई।

इस चोट के बाद डॉक्टर ने अंदेशा जताया था कि उनका शरीर पूरी तरह ठीक नहीं हो पाएगा और हो सकता है वो चल भी ना पाएं। लेकिन अपनी हार ना मानने की आदत और मेहनत ने उन्हें बिल्कुल ठीक कर दिया। जिसके बाद उन्होंने 16 मई 1998 को अपना बचपन का सपना पूरा कर दिखाया और माउंट एवरेस्ट को फतह कर लिया। ऐसा करने वाले वे युवा लोगों में से एक थे। अब वह डिस्कवरी चैनल के एक मशहूर टीवी प्रैसेंटर हैं और उनका टीवी शो दुनिया भर में पसंद किया जाता है।

इस कहानी से हमें क्या सीख मिलती है...

1. हमें कभी भी अपने सपने को नहीं छोड़ना चाहिए, चाहे परिस्थिति कितनी भी कठिन क्यों ना हो जाएं।
2. उम्मीद और हौसले के साथ बुरे समय से निकला जा सकता है।
3. नामुमकिन कुछ भी नहीं है, एक चींटी भी हाथी को हरा सकती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:success mantra struggle and success story of bear grylls you can also learn from him