ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्मSolar Eclipse 2020: सूर्य ग्रहण खत्म ,पुण्य प्राप्ति के लिए सबसे पहले कर लें ये 5 काम

Solar Eclipse 2020: सूर्य ग्रहण खत्म ,पुण्य प्राप्ति के लिए सबसे पहले कर लें ये 5 काम

Solar Eclipse 2020: आज 21 जून, रविवार को मिथुन राशि में लगने वाला साल का पहला सूर्य ग्रहण समाप्त हो गया है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण की समाप्ति के बाद कुछ खास बातों का विशेष ध्यान रखना...

Solar Eclipse 2020: सूर्य ग्रहण खत्म ,पुण्य प्राप्ति के लिए सबसे पहले कर लें ये 5 काम
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSun, 21 Jun 2020 03:57 PM
ऐप पर पढ़ें

Solar Eclipse 2020: आज 21 जून, रविवार को मिथुन राशि में लगने वाला साल का पहला सूर्य ग्रहण समाप्त हो गया है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण की समाप्ति के बाद कुछ खास बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। हिंदू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण के बाद कपड़ों सहित स्नान करना चाहिए। साथ ही सूतक काल लगते ही तुलसी या कुश मिश्रित जल को खाने-पीने की चीजों में रखना चाहिए। जिसे  ग्रहण के बाद निकाल दिया जाता है। कहते हैं ग्रहण का असर तुलस दल ले लेता है और आपकी चीजों को दूषित नहीं होने देता । धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण समाप्ति के बाद कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं आखिर क्या हैं ये बातें। 

1-स्नान 
सूर्य ग्रहण खत्म होते ही सबसे पहले स्नान करना चाहिए।  धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूर्य ग्रहण के बाद गंगा या किसी पावन नदी में स्नान की परंपरा है। लेकिन इस बार कोरोना वायरस के चलते ऐसा करना सुरक्षित नहीं, इसलिए नहाने के पानी में गंगा जल मिलाकर स्नान कर सकते हैं। 

2- गंगा जल का छिड़काव-
सूर्य ग्रहण खत्म होने के बाद पूरे घर में गंगा जल का छिड़काव करें। माना जाता है कि सूर्य ग्रहण के दौरान घर में नकारात्मकता आती है जिसे दूर करने के लिए पूरे घर में गंगा जल का छिड़काव करना चाहिए। 


3-तुलसी की पूजा-

ग्रहण के बाद तुलसी के पौधे की पूजा कर पौधे के पास एक दीपक जरूर जलाएं, ऐसा करने से ग्रहण दोष समाप्त होता है और घर में शांति आती है।

4-देवी-देवताओं को स्नान-

सूर्य ग्रहण की समाप्ति के बाद पूजा घर में रखें सभी देवी- देवताओं को स्नान अवश्य कराएं। भगवान को स्नान कराने वाले जल में गंगा जल मिलाने के बाद ही भगवान को स्नान करवाएं। 

5-पितृदोष से मुक्ति-
पितृदोष से मुक्ति के लिए सूर्य ग्रहण के बाद भगवान शिव का गंगाजल से अभिषेक करें।