Sharad Purnima 2019: Sharad Purnima on sunday on this day Kojagari Lakkhi Puja and Kojagara Puja know importance - Sharad Purnima 2019: कल है शरद पूर्णिमा, इसी दिन होती है कोजागरी लक्खी पूजा और कोजागरा पूजा, जानें महत्व DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Sharad Purnima 2019: कल है शरद पूर्णिमा, इसी दिन होती है कोजागरी लक्खी पूजा और कोजागरा पूजा, जानें महत्व

Happy diwali, laxmi pujan 2018, laxmi aarti, laxmi pujan, lakshmi pooja

आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा मनाया जाता है। शरद पूर्णिमा का दिन कई मायनों में महत्वपू्ण है। इस दिन जहां उत्तर भारत में इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है और खीर का प्रसाद बनाकर रात को चंद्रमा के नीचे रखा जाता है। 

शरद पूर्णिमा पर 30 साल बाद बना गजकेसरी योग, जानें क्या है पूजा का शुभ मुहूर्त और विधि

ऐसा कहा जाता है कि शरद पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी का जन्म हुआ था इसलिए इस दिन मां लक्ष्मी की विशेष पूजा अर्चना की जाती है। वहीं इस दिन बाल्मिकी जयंती भी है।इस दिन बंगाली समुदाय में कोजागरी लक्खी पूजा का भी विशेष आयोजन किया जाता है। पश्चिम बंगाल में कोजागरी लक्खी पूजा का विशेष महत्व होता है। इसके अलावा मिथिलांचल में इस दिन कोजागरा पूजा की जाती है। ये पूजा नवविवाहितों के लिए एक अहम पूजा होती है। 

Sharad Purnima 2019: शरद पूर्णिमा पर रात को पृ्थ्वी पर विचरण करती हैं मां लक्ष्मी, रात भर जागकर करें ये काम

बंगाली समुदाय में कोजागरी लक्खी पूजा के दिन दुर्गापूजा वाले स्थान पर मां लक्ष्मी की विशेष रूप से प्रतिमा स्थापित की जाती है। नारयिल और गुड़ का लड्डू बना कर भोग लगाया जाता है। वहीं नवविवाहितों के जीवन में धन-धान्य और सुख समृद्धि बनी रही इसलिए कोजागरा पूजा की जाती है। इस दिन घर के बड़े नवविवाहितों को चावल देकर उन्हें आशिष देते हैं। 

कुछ लोग गाय के दूध में भी केसर मिलाते हैं। ऐसी मान्यता है कि इस रात आसमान से चन्द्र देव अमृत बरसाते हैं। चंद्रमा द्वारा बरसाई जा रही चांदनी खीर या दूध को अमृत से भर देती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sharad Purnima 2019: Sharad Purnima on sunday on this day Kojagari Lakkhi Puja and Kojagara Puja know importance