DA Image
29 मार्च, 2021|11:29|IST

अगली स्टोरी

Shani Transit 2020: शनि का मकर में राशि परिवर्तन आज से, अब इस महीने शनि होंगे वक्री, साढ़ेसाती वालों की परेशानियां होंगी कम

shani dev

मौनी अमावस्या पर शनि का राशि परिवर्तन हो रहा है। ज्योतिष नजरिए से देखा जाए तो यह राशि परिवर्तन प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रुप से प्रभावित करता है। शनि धनु राशि से अपनी राशि मकर राशि में जा रहे हैं। इसके सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरह के प्रभाव पड़ेंगे। आपको बता दें कि एक तरफ जहां वृश्चिक राशि से साढे साती समाप्त हो रहा है वहीं कन्या राशि से शनि की ढ़ैया खत्म हो रही है। मकर के लिए मध्य और कुम्भ राशि के लिए चढ़ती साढ़े साती का प्रभाव रहेगा। 

इसके बाद शनि 11 मई से वक्री होंगे। जिससे इस समय में साढ़े साती और ढैया से होने वाली परेशानियों में कमी होगी। शनि 28 सितंबर से वक्री होंगे। एएमयू स्थित मंदिर के पुजारी पं. विनोद शर्मा ने बताया कि शनि 11 मई से 28 सितंबर तक मकर राशि में ही वक्री रहेंगे। इन 142 दिनों में साढ़ेसाती और ढैया से प्रभावित लोगों की परेशानियों में कमी आएगी, पर उनके काम भी धीमी गति से ही पूरे होंगे। उन्होंने बताया कि जिस राशि पर साढ़ेसाती चलती है, उसका असर साढ़े सात साल तक रहता है। वृश्चिक राशि वालों से शनि की साढ़े साति समाप्त हो रही है तो इस राशि के लोगों को काफी राहत मिलेगी। हालांकि आपके काम की गति अभी भी मध्यम रहेगी और आपको इच्छित परिणाम नहीं मिलेंगे। आपको अपने खर्चों पर लगाम लगानी होगी। हनुमान चालीसा का पाठ आपके लिए लाभप्रद रहेगा। 

 जब शनि किसी राशि में प्रवेश करता है तो उस पर साढ़ेसाती के पहले ढाई साल पूरे हो चुके होते हैं और दूसरा चरण शुरू हो जाता है। अगली राशि पर साढ़ेसाती के शुरुआती ढाई साल होते हैं। ढैया का मतलब जिस राशि पर शनि की वक्र दृष्टि होती है और जिस राशि में शनि होता है उससे छठी राशि पर शनि की ढैया होती है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Shani Transit 2020: shani in makar Capricorn Sagittarius today this month Saturn will be retrograde Shani Sade Sati effect will decrease read astrological predictions