Hindi Newsधर्म न्यूज़Shani Jayanti upay sade sati and dhaiya remedies

शनिदेव इन 3 राशियों पर हैं भारी, शनि जयंती पर जरूर करें ये छोटा सा काम, संवर जाएगा भाग्य

Shani Jayanti Sade Sati Upay Remedies : ज्योतिष में शनिदेव को विशेष स्थान प्राप्त है। शनिदेव न्याय के देवता हैं और सभी ग्रहों में सबसे धीमी चाल चलते हैं।  इस साल 6 जून को शनि जयंती है।

Yogesh Joshi लाइव हिन्दुस्तान टीम, नई दिल्लीThu, 6 June 2024 03:34 PM
हमें फॉलो करें

Shani Jayanti : ज्योतिष में शनिदेव को विशेष स्थान प्राप्त है। शनिदेव न्याय के देवता हैं और सभी ग्रहों में सबसे धीमी चाल चलते हैं।  इस साल 6 जून को शनि जयंती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शनि देव कर्म फल दाता हैं। शनि देव कर्मों के हिसाब से फल देते हैं। शनि जयंती के दिन शनि के अशुभ प्रभावों से मुक्ति के लिए शनि देव की विधि- विधान से पूजा- अर्चना करनी चाहिए। हिंदू पंचांग के अनुसार ज्येष्ठ माह की अमावस्या तिथि पर शनि देव का जन्म हुआ था। इस दिन को शनि जयंती के नाम से जाना जाता है। इस पावन दिन शनि देव की पूजा- अर्चना करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है। शनि के अशुभ होने पर व्यक्ति को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस समय कुंभ, मकर, मीन राशि पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है। शनि की साढ़ेसाती लगने पर व्यक्ति को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। आइए जानते हैं शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए कैसे करें पूजा- अर्चना:

पूजा-विधि :

  • इस पावन दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं।
  • घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  • शनिदेव के मंदिर जाएं।
  • शनिदेव को तेल, पुष्प अर्पित करें।
  • शनि चालीसा का पाठ करें।
  • अगर संभव हो तो इस दिन व्रत भी रखें।
  • इस पावन दिन दान भी करें। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार दान करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है।

वट सावित्री व्रत पर उच्च राशि में रहेंगे चंद्रमा, इस समय में भूलकर भी न करें पूजा, मालामाल होने के लिए करें ये उपाय

इन मंत्रों का जप करें

शनि देव को प्रसन्न करने के लिए इन मंत्रों का जप करें...

  • "ऊं शं अभयहस्ताय नमः"
  • "ऊं शं शनैश्चराय नमः" 
  • "ऊं नीलांजनसमाभामसं रविपुत्रं यमाग्रजं छायामार्त्तण्डसंभूतं तं नमामि शनैश्चरम" 

इन उपायों से भी होते हैं शनिदेव प्रसन्न- शनि जयंती के दिन शनि देव को प्रिय काली चीजें जैसे काली उड़द, काले कपड़े आदि दान कर सकते हैं। इसके अलावा शनि जयंती पर किसी मंदिर में बैठकर शनि स्त्रोत का पाठ करना बहुत उत्तम रहता है। इससे शनि देव प्रसन्न हो जाएंगे। शनिवार के दिन पीपल के पेड़ पर शनिदेव की मूर्ति के पास तेल चढ़ाएं या फिर उस तेल को गरीबों में दान करें। शनिवार को काला तिल और गुड़ चीटों को खिलाएं। इससे भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं। 

ऐप पर पढ़ें
Advertisement