ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News Astrologyshani jayanti kab hai 2024 mein date time puja vidhi shubh muhurat upay

Shani Jayanti Kab Hai : कब है शनि जयंती? नोट कर लें सही डेट, पूजा-विधि, शुभ मुहूर्त और उपाय

Shani Jayanti 2024 : शनि जयंती के दिन शनिदेव की विधि-विधान से पूजा की जाए तो जीवन से जुड़े सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। कहा जाता है कि इस दिन ही सू्र्य व छाया के पुत्र शनि का जन्म हुआ था।

Shani Jayanti Kab Hai : कब है शनि जयंती? नोट कर लें सही डेट, पूजा-विधि, शुभ मुहूर्त और उपाय
Yogesh Joshiलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 17 May 2024 12:05 AM
ऐप पर पढ़ें

Shani Jayanti 2024 : हिंदू परंपरा में शनिदेव की पूजा का बहुत ज्यादा महत्व माना गया है। शनि की पूजा के लिए शनि जयंती को बहुत ज्यादा शुभ माना गया है। मान्यताओं के अनुसार शनिदेव का जन्म ज्येष्ठ मास की अमावस्या को हुआ था जो इस साल 6 जून को है। कहा जाता है कि शनि जयंती के दिन शनिदेव की विधि-विधान से पूजा की जाए तो जीवन से जुड़े सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। कहा जाता है कि इस दिन ही सू्र्य व छाया के पुत्र शनि का जन्म हुआ था। शनि हर जातक को उसके कर्मों के हिसाब से फल प्रदान करते हैं। शनि को प्रसन्न करना आसान नहीं है लेकिन शास्त्रों में कुछ खास दिन बताए गए हैं जिनमें कुछ उपायों को करने से शनि प्रसन्न होते हैं। इनमें से एक दिन है शनि जयंती।

मुहूर्त

  • अमावस्या तिथि प्रारम्भ - जून 05, 2024 को 07:54 पी एम बजे

  • अमावस्या तिथि समाप्त - जून 06, 2024 को 06:07 पी एम बजे

पूजा विधि-

  • इस पावन दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं। 
  • घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  • शनिदेव के मंदिर जाएं।
  • शनिदेव को तेल, पुष्प अर्पित करें।
  • शनि चालीसा का पाठ करें।
  • अगर संभव हो तो इस दिन व्रत भी रखें।
  • इस पावन दिन दान भी करें। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार दान करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है।

गुरु के उदय होने से इन राशियों की जागेगी सोई हुई किस्मत, बदल जाएगा भाग्य

शनि देव की पूजा में इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए...

शनि देव की आंखों में न देखें

  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शनि देव की आंखों में नहीं देखना चाहिए। शनि देव की पूजा करते समय हमेशा अपनी नजरें नीचे रखें। शनि देव से नजरें मिलाने से आप पर शनि देव की बुरी नजर पड़ सकती है। 

एकदम सामने खड़े न रहें

  • शनिदेव की पूजा बिल्कुल उनकी प्रतिमा के सामने खड़े होकर नहीं करनी चाहिए। शनिदेव के सामने कढ़े होकर पूजा करने से अशुभ फल मिल सकता है। 

Vat Savitri Vrat : कब है वट सावित्री व्रत? नोट कर लें सही डेट, पूजा-विधि, सामग्री लिस्ट, नियम और मुहूर्त

शनिदेव को इन उपायों से करें प्रसन्न-

1. शनि जयंती के दिन भगवान शिव का काले तिल मिले हुए जल से अभिषेक करना चाहिए। कहते हैं कि ऐसा करने से शनिदोष से मुक्ति मिलती है।
2. इस दिन शनिदेव को अपराजिता के फूलों की माला अर्पित करनी चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं।
3.शनि जयंती के दिन शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए गरीब व जरूरतमंद को सामर्थ्यनुसार दान करना चाहिए।
4. शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए।
5.  मान्यता है कि शनि जयंती के दिन पीपल के वृक्ष में शाम के समय सरसों के तेल का दीपक जलाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें