DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Sawan Shivratri 2019: शिवरात्रि की पूजा में शामिल करें 1001 बेलपत्र, पढ़ें पूरी विधि

भगवान शिव के लिए शिवरात्रि का दिन बहुत अहम माना जाता है। यह दिन भक्तों के लिए भी बहुत खास होता है। यदि शिवरात्रि सावन में हो तब इसका महत्व और ज्यादा बढ़ जाता है। मान्यता है कि शिवरात्रि को भोलेनाथ की आराधन करने वाले व्यक्ति के कष्ट दूर होते हैं। शिवरात्रि की पूजा को बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है। इसकी एक विशेष विधि है, जो कुछ इस तरह है...

इस बार शिवरात्रि चतुर्दशी तिथि 30 जुलाई 2019 को शुरू होगी और 31 जुलाई 2019 को सुबह 11 बजकर 57 मिनट तक रहेगी। महाशिवरात्रि की पूजा 31 जुलाई 2019 को सुबह 9 बजे से 2 बजे तक की जाएगी।  

यह भी पढ़ें : Sawan Shivratri 2019: इस तारीख को है सावन की शिवरात्रि, जानें क्या है महत्व

शिवरात्रि की पूजा विधि -

  • सुबह स्नानादि के बाद साफ वस्त्र धारण करें।
  • मंदिर में भगवान शिव की मूर्ति को स्थापित करें।
  • इसके बाद 1001 बेल पत्र रख लें। 
  • भोलेनाथ के आगे दीपक और धूपबत्ती चलाएं।
  • अब शिवशंकर मंत्रों के उच्चारण के साथ 1001 बेल पत्र अर्पित करें।  
  • इसके बाद भगवान शिव को भोग लगाएं।
  • पूजन के दौरान शिव भगवान को 1001 बार स्मरण करें। 

यह भी पढ़ें : Happy Sawan Shivratri Wishes: दोस्तों-परिजनों को शिवरात्रि पर भेजें ये शुभकामना संदेश

बता दें कि भगवान शिव की पूजा के दौरान भोग लगाना भी जरूरी होता है। इसलिए भोग के रूप गुड़ से बना पुआ, हलवा और कच्चे चना या दूध से बनी मिठाई चढ़ा सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sawan shivratri 2019 puja vidhi shubh muhurat
Astro Buddy