DA Image
हिंदी न्यूज़ › धर्म › Sawan Somwar 2021 : भगवान शंकर को प्रिय होती हैं ये चीजें, जानें भोलेनाथ को क्या चढाएं औ़र क्या नहीं
पंचांग-पुराण

Sawan Somwar 2021 : भगवान शंकर को प्रिय होती हैं ये चीजें, जानें भोलेनाथ को क्या चढाएं औ़र क्या नहीं

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Yogesh Joshi
Mon, 26 Jul 2021 05:23 AM
Sawan Somwar 2021 : भगवान शंकर को प्रिय होती हैं ये चीजें, जानें भोलेनाथ को क्या चढाएं औ़र क्या नहीं

Sawan 2021 : भगवान शंकर के पावन माह सावन की शुरुआत हो गई है। भगवान शंकर को सावन का महीना अतिप्रिय होता है। इस माह में विधि- विधान से भोलेनाथ की पूजा- अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। इस साल 25 जुलाई से 22 अगस्त तक सावन का महीना रहेगा। सावन के महीने में भगवान शंकर की विधि- विधान से पूजा- अर्चना करनी चाहिए। आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे भगवान शिव को कौनसी चीजें सबसे अधिक पसंद हैं और भगवान शिव को क्या नहीं चढ़ाना चाहिए।

भगवान शिव को प्रिय हैं ये चीजें

दूध

  • भगवान शंकर को दूध अतिप्रिय होता है। सावन के पावन माह में भगवान शंकर का दूध से अभिषेक जरूर करें। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान शिव को दूध अर्पित करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।

Sawan 2021 : इन राशि वालों से जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं भोलेनाथ, देखें क्या आप पर भी मेहरबान हैं भगवान शंकर

गंगा जल

  • भगवान शंकर को गंगा जल भी प्रिय होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गंगा नदी में शिव का वास होता है। सावन के पावन माह में गंगा जल से शिव का अभिषेक जरूर करें।

ये चीजें भी होती हैं अतिप्रिय-

  • धतूरा, बेलपत्र, भांग, इत्र, चंदन, केसर, अक्षत, शक्कर, गंगाजल, शहद, दही, घी, गन्ने का रस और फूल भगवान शंकर को प्रिय हैं। भोलेनाथ की पूजा में इन चीजों का इस्तेमाल जरूर करें।

ये फूल होते हैं अतिप्रिय

  • भगवान शंकर को आक का फूल या सफेद रंग के फूल अतिप्रिय होते हैं। भगवान शंकर की पूजा में सफेद रंग का फूल या आक का फूल जरूर शामिल करें।

Sawan 2021 : सावन माह में हर किसी को करने चाहिए ये छोटा सा काम, शनि दशा से लेकर पितृ दोषों से मिलेगी मुक्ति

भगवान शंकर को न चढ़ाएं ये चीजें

  • भगवान शंकर को शंख से जल अर्पित नहीं किया जाता है।
  • भगवान शंकर को केवड़े और केतकी का पुष्प अर्पित नहीं करना चाहिए।
  • भगवान शंकर की पूजा में तुलसी दल का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। भोलेनाथ को तुलसी दल नहीं चढ़ाया जाता है।
  • भगवान शंकर की पूजा में हल्दी का इस्तेमाल भी नहीं किया जाता है। 
  • भगवान शंकर को नारियल पानी भी नहीं चढ़ाया जाता है।

(इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। )

संबंधित खबरें