Hindi Newsधर्म न्यूज़saturn retrograde in aquarius shani vakri kumbh rashi mein horoscope rashifal

29 दिन बाद शनि की बदलेगी चाल, इन 5 राशियों की बदलेगी किस्मत, धन का खुलेगा पिटारा

Saturn Retrograde : ज्योतिषशास्त्र में शनिदेव को विशेष स्थान प्राप्त है। इस समय शनिदेव मार्गी अवस्था में चल रहे हैं। शनिदेव 29 जून तक मार्गी हो रहेंगे। 30 जून को शनिदेव मार्गी से वक्री हो जाएंगे।

shani sade sati
Yogesh Joshi लाइव हिन्दुस्तान टीम, नई दिल्लीSat, 1 June 2024 11:27 AM
हमें फॉलो करें

ज्योतिषशास्त्र में शनिदेव को विशेष स्थान प्राप्त है। इस समय शनिदेव मार्गी अवस्था में चल रहे हैं। शनिदेव 29 जून तक मार्गी हो रहेंगे। 30 जून को शनिदेव मार्गी से वक्री हो जाएंगे। शनिदेव 30 जून से 135 दिनों तक वक्री यानी उलटी चाल चलेंगे। शनिदेव के वक्री होने से कुछ राशि वालों को शुभ तो कुछ राशि वालों को अशुभ फल का प्राप्ति होगी। शनिदेव के अशुभ होने पर जहां व्यक्ति को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है, वहीं शुभ होने व्यक्ति का जीवन राजा के समान हो जाता है। आइए जानते हैं, शनिदेव के वक्री होने से किन राशियों की चमकेगी किस्मत-

मेष राशि- पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। घर-परिवार में धार्मिक कार्य हो सकते हैं।खर्चों की अधिकता हो सकती है। सेहत का ध्यान रखें। आत्मविश्वास भरपूर रहेगा। परिवार में खुशियों का माहौल रहेगा, परन्तु बातचीत में संयत रहें। धार्म‍िक एवं मांगलिक कार्यक्रम होंगे। धनलाभ के योग हैं। वाणी में मधुरता रहेगी। सन्तान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं। 

मिथुन राशि- मानसिक शान्ति रहेगी। नौकरी में अफसरों का सहयोग मिल सकता है।तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे। आय में वृद्धि होगी। लंबे समय से प्रतीक्षारत कार्य पूरा होगा। नौकरी में अध‍िकारि‍यों से मधुर संबंध रहेंगे। अच्‍छा मौका मिलने की उम्‍मीद है। कारोबार में बढ़ोतरी होगी। क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा के मनोभाव हो सकते हैं। शैक्षिक कार्यों पर ध्यान दें। नौकरी में स्थान परिवर्तन की सम्भावना बन रही है। किसी धार्मिक स्‍थान के निर्माण में सहयोग कर सकते हैं। मित्र के सहयोग से आय वृद्धि के स्रोत विकसित हो सकते हैं। वाहन सुख में वृद्धि होगी। 

सिंह राशि- क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा के मनोभाव हो सकते हैं। शैक्षिक कार्यों पर ध्यान दें।नौकरी में स्थान परिवर्तन की सम्भावना बन रही है। किसी धार्मिक स्‍थान के निर्माण में सहयोग कर सकते हैं। मित्र के सहयोग से आय वृद्धि के स्रोत विकसित हो सकते हैं। वाहन सुख में वृद्धि होगी। नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं।भौतिक सुखों में वृद्धि होगी। स्वास्थ्‍य का ध्यान रखें। माता को स्वास्थ्‍य विकार हो सकते हैं। रहन-सहन कष्टमय रहेगा। धर्म-कर्म में रुचि बढ़ेगी। कार्यक्षेत्र में बदलाव हो सकते हैं। उच्‍चाध‍िकार‍ियों से मधुर संबंध रहेंगे।

(इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। विस्तृत और अधिक जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।)

ऐप पर पढ़ें